Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अलविदा 2018 / इस देश के लिए सबसे खराब रहा ये साल, हो गया कंगाल, लोग सड़ा मांस खाने को मजबूर

साल 2018 खत्म होने की ओर बढ़ रहा है। 2019 का लोग नई उम्मीदों के साथ इंतजार कर रहे हैं। कुछ लोगों के लिए यह साल अच्छा रहा तो कुछ लोगों के लिए यह साल निराश करने वाला था। ऐसा ही कुछ देश के लिए भी ऐसा ही हाल रहा। कुछ देश के लिए यह साल बेहद शानदार रहा। किसी की जीडीपी बढ़ी और मुद्रास्फीति में स्थिरता रही। तो वहीं कोई ऐसे रहे जो एकदम कंगाली की कगार पर पहुंच गए हैं। उनके लिए मुश्किल है कि वह अपने नागरिकों को क्या खिलाएं। आइए जानते हैं। कुछ ऐसे ही देश के बारे में जिनके लिए साल 2018 बेहद खराब रहा है।

अलविदा 2018 / इस देश के लिए सबसे खराब रहा ये साल, हो गया कंगाल, लोग सड़ा मांस खाने को मजबूर

साल 2018 खत्म होने की ओर बढ़ रहा है। 2019 का लोग नई उम्मीदों के साथ इंतजार कर रहे हैं। कुछ लोगों के लिए यह साल अच्छा रहा तो कुछ लोगों के लिए यह साल निराश करने वाला था। ऐसा ही कुछ देश के लिए भी ऐसा ही हाल रहा। कुछ देश के लिए यह साल बेहद शानदार रहा। किसी की जीडीपी बढ़ी और मुद्रास्फीति में स्थिरता रही। तो वहीं कोई ऐसे रहे जो एकदम कंगाली की कगार पर पहुंच गए हैं। उनके लिए मुश्किल है कि वह अपने नागरिकों को क्या खिलाएं। आइए जानते हैं। कुछ ऐसे ही देश के बारे में जिनके लिए साल 2018 बेहद खराब रहा है।

वेनेजुएला (Venezuela)

वेनेजुएला (Venezuela) दक्षिणी अमेरिका (South America) महाद्वीप का एक देश है। यहां की मुद्रा बोलिवर (Bolivar) है। वेनेजुएला (Venezuela) के लिए साल 2018 बेहद बुरा साबित हुआ है। वेनेजुएला (Venezuela) में महंगाई दर इतनी बढ़ गई है कि यहां के लोगों के लिए खाने के लाले हो गए हैं। आज के दिन 1 डॉलर की कीमत करीब ढाई लाख बोलिवर (Bolivar) है।
अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने अनुमान लगाया था कि 2018 के अंत तक वेनेजुएला (Venezuela) में महंगाई दर 10 लाख प्रतिशत तक पहुंच जाएगी। इस भविष्यवाणी को सुनने के बाद वेनेजुएला (Venezuela) के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो (Nicolas Maduro) ने मुद्रा के लिए नियम बदल दिए। जिसके तहत नोट की फेस वैल्यू (नोट पर छपा अंक) बदल दी गई।
निकोलस मादुरो (Nicolas Maduro) ने 100000 बोलिवर वाले नोट से पांच शून्य को हटा दिया। मतलब जो नोट एक लाख बोलिवर कहा जाता था वह अब 1 बोलिवर हो गया था। सरकार ने पहले तीन शून्य वाले नोट जेसै 1000, 2000 और 5000 की फेसवैल्यू बदलने का निश्चय किया था।
लेकिन बाद में IMF की भविष्यवाणी के चलते 5 अंक हटा दिया गया। बंपर महंगाई के चलते वेनेजुएला (Venezuela) की राजधानी कराकस में हिंसा और क्राइम रेट दुनिया में सबसे ज्यादा पहुंच गया। हालत यह हो गई की लोग खाने के सामान, पानी और कपड़े तक नहीं खरीद सके।

कैसे कंगाली की कगार पर पहुंचा वेनेजुएला (Venezuela Crisis)

वेनेजुएला (Venezuela) प्राकृतिक तेल से भरपूर देश है। बहुत ही कम देश हैं साउथ अमेरिका में जिसके पास तेल का अपना भंडार है। वेनेजुएला (Venezuela) की अर्थव्यवस्था का 95 प्रतिशत हिस्सा तेल पर निर्भर है। वेनेजुएला (Venezuela) की धरती के नीचे दुनिया का सबसे ज्यादा तेल (Natural Gas) उपलब्ध है।

लेकिन अब यह सवाल उठता है कि जब यह प्राकृतिक तेल से समृद्ध देश है तो इसके पास पैसे की कमी कैसे हो गई। तो उसका कारण जानने के लिए थोड़ा इतिहास को समझना होगा। 1999 से 2013 तक राष्ट्रपति रहे ह्यूगो चागेस (Hugo Chavez) चाहते थे कि लोग हमेशा सरकार पर निर्भर रहें।

इस लिए उन्होंने बिना जरूरत के लोगों को सरकारी तेल की कंपनी में नौकरी दे दी। करीब दस लाख लोगों को निशुल्क घर दिया। और पेंशन दिया। तेल की कीमते उस समय ज्यादा थीं इस लिए वेनेजुएला (Venezuela) संपन्न था। यह सब सामाजिक कार्यक्रम जारी रखने के लिए उसके पास पैसा था।

साल 2013 में उनकी मौत हो गई। उसके बाद निकोलस मादुरौ (Nicolas Maduro) राष्ट्रपति बने लेकिन वह इतने खुशकिस्मत नहीं थे। उनके राष्ट्रपति बनने के तेल की कीमतों में गिरावट आनी शुरू हो गई। जिसके कारण रुस, सऊदी अरब जैसे देशों को भी नुकसान हुआ।

लेकिन वेनेजुएला (Venezuela) की अर्थव्यवस्था तेल पर ही ज्यादातर थी इस लिए सामाजिक कार्यक्रमों को चलाने के लिए पैसे की कमी हो गई और उन्हें बंद करना पड़ा। जिसके कारण पूरे देश में गरीबी फैलने लगी। जो लोग बेवजह नौकरी में थे उन्हें निकाल दिया गया।

जिसके कारण उनके हाथ खाली हो गए और अब क्राइम कर रहे हैं। महंगाई इस कदर है कि वहां एक थाली खाने की कीमत एक करोड़ वोलिवर (bolivar) के करीब है। इसी लिए वेनेजुएला (Venezuela) के कौन बनेगा करोड़पति कार्यक्रम को बंद करना पड़ा। क्योंकि इस समय वेनेजुएला (Venezuela) में करोड़ की कीमत न के बराबर है। हाल यह है कि आम लोग सड़ा हुआ मांस ही सस्ते में पा रहे हैं और वही खा रहे हैं।

Next Story
Share it
Top