Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अलविदा 2018 / राहुल गांधी के इन 10 बयानों में दिखा दम, इस एक गलती से उड़ा मजाक

साल 2018 जाने वाला है और नया साल 2019 आने वाला है। इस एक साल में भारत ने राजनीति, विज्ञान, कला, मनोरंजन, खेल और तकनीक के क्षेत्र में कई काम किए और इतिहास भी रच दिए। लेकिन यहां हम बात भारतीय राजनीति की कर रहे हैं कि साल 2018 कैसा रहा। इस साल राहुल गांधी के भाषण में एक अलग ही बदलाव देखने को मिला। जिसकी सराहना हर जगह हुई।

अलविदा 2018 / राहुल गांधी के इन 10 बयानों में दिखा दम, इस एक गलती से उड़ा मजाक
साल 2018 जाने वाला है और नया साल 2019 आने वाला है। इस एक साल में भारत ने राजनीति, विज्ञान, कला, मनोरंजन, खेल और तकनीक के क्षेत्र में कई काम किए और इतिहास भी रच दिए। लेकिन यहां हम बात भारतीय राजनीति की कर रहे हैं कि साल 2018 कैसा रहा। इस साल राहुल गांधी के भाषण में एक अलग ही बदलाव देखने को मिला। जिसकी सराहना हर जगह हुई।
लेकिन कई जगहों पर वो अपनी गलती का भी शिकार हुए। यहां हम कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उन 10 भाषणों की बात कर रहे हैं जिसमें उनकी स्पीच में कई तरह के बदलवा देखने को मिले। लेकिन एक गलती ने उनको काफी ट्रोल भी किया। इस साल अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में 20 जुलाई को पक्ष और विपक्ष के बीच हुई बहस हुई।
सदन में राहुल गांधी पीएम समेत सदस्य मौजूद थे। राहुल गांधी ने एनडीए सरकार के विरुद्ध असरदार भाषण देने के बाद अचानक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'जादू की झप्पी' देकर सदन में नई परिपाटी डाल दी। इसके बाद जो हुआ उससे उनका काफी मजाक भी उड़ा, पीएम को गले लगाकर उन्होंने सदन में किसी एक साथ को देखकर आंख मारी जिसके बाद वो ट्रोल हो गए। राहुल गांधी की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गई और अब इंटरनेट पर वह ट्रोल का शिकार हो गए।

ये हैं राहुल गांधी के 10 दमदार भाषण

1. 20 जुलाई 2018 को संसद भवन में लोकसभा में केंद्र के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण के वक्त सवालों के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया और दमदार भाषण भी दिया।
2. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने भाषण में कहा कि हमारी सोच उनसे अलग है। मैं सदन में सार ग्रहण करने की कोशिश कर रहा था लेकिन मिला नहीं। आगे कहा कि उन्होंने अहंकार में कहा कि 2019 में पावर में आने नहीं देंगे। जो लोगों में विश्वास नहीं करते और खुद को ही भाग्य विधाता मानते हैं उनके मुंह से ऐसे शब्द अच्छे नहीं लगते हैं। इस भाषण में उनकी एक अलग ही स्पीच नजर आई। जिसकी कांग्रेस नेताओं ने काफी सराहना की।
3. लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राहुल ने कहा कि पीएम मोदी ने 45 मिनट के अपने भाषण में बेरोजगारी, राफेल करार, नोटबंदी, अर्थव्यवस्था, मॉबलिंचिंग, हत्या और दलितों एवं महिलाओं पर कथित अत्याचार के रूप में लोगों पर जुमला स्ट्राइक करने का आरोप लगा था। इस भाषण के दौरान संसद में तालिया भी बजी लेकिन फिर राहुल पीएम की तरफ बढ़े और उनको गले लगा लिया। आप पार्टी ने राहुल के इस तरीके की काफी सराहना की थी।
4. राहुल गांधी ने जर्मनी के हैम्बर्ग में एक बुसेरियस समर स्कूल में एक अच्छा भाषण दिया। 22 अगस्त को राहुल यहां पहुंचे और भाषण दिया। राहुल ने अपने भाषण में मोटा-मोटी जिन चीजों पर बात की। जिसकी कांग्रेस ने तारीफ की।
5. जर्मनी के हैम्बर्ग में राहुल गांधी ने देशभर में बढ़ रही लिंचिंग की घटनाओं के लिए बेरोजगारी, नोटबंदी और जीएसटी को जिम्मेदार ठहराया है। इस बयान की बीजेपी ने घोर निंदा की थी। वहीं राहुल ने दावा किया था कि भाजपा के नोटबंदी और जीएसटी को खराब तरीके से लागू किये जाने से छोटे कारोबार बेरोजगार हो गए। वहीं कांग्रेस ने उनके इस बयान की काफी तारीफ की थी।
6. राहुल गांधी ने कहा कि भारत की सोच थी कि विकास और बदलाव के सफर में सबको साथ लेकर आगे बढ़ने की और सबकी तरक्की हो। ऐसे समुदाय जो कि हाशिये पर थे, उन्हें औरों से ज्यादा मदद दी जाती थी। ये सब चल रहा था 2014 तक। लेकिन मोदी सरकार के बाद अच्छे दिन और ये काम बंद हो गए।
7. राहुल गांधी ने केंद्र पर जीएसटी को लेकर भी कई बाद हमले किए लेकिन इस बयान ने विपक्ष पार्टियों को माने पर मजबूर कर दिया की राहुल की भाषा बदल गई है और उनकी भाषण का तरीका भी।
8. राहुल ने कहा कि पीएम ने नोटबंदी कर दी उन्होंने छोटे और मंझोले कारोबारियों का बर्बाद कर दिया, लाखों-लाख लोग, जो कि ऐसे इन्फॉर्मल सेक्टर्स में काम करते थे, सभी को नुकसान हुआ। उसकी बाद जीएसटी ने तो उन्हें पूरी तरह बर्बाद कर दिया।
9. अभी हाल ही में छत्तीसगढ़ चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एक बार फिर ट्रोल हुए। यहां राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए मोबाइल खरीद में घोटाले का आरोप लगाया और वो BHEL शब्द को कई बार बोल गए। राहुल गांधी ने कहा कि ये जो मोबाइल है, ये इन्होंने भील से क्यों नहीं खरीदा? राहुल गांधी ने भील शब्द को 2-3 बार दोहराया और आगे कहा कि बात समझिए उधर राफेल और इधर छत्तीसगढ़ में मोबाइल घोटाला। यह बयान काफी लोगों को पचा नहीं और वो मजाक का पात्र बन गए।
10. वहीं इस साल राफेल डील को लेकर भी राहुल ने हर मंच से भाजपा को घेरा, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम को राफेल पर बहस के लिए चुनौती दी। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि मोदी जी व्यापमं, भ्रष्टाचार, राफेल, किसान, रोजगार, देश में फैली अफरा-तफरी, गिरती अर्थव्यवस्था और नफरत पर हमसे सीधी बात करें।
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top