Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

साल 2018 में कब-कब फिसली राहुल गांधी की जुबान, मजेदार Tweets पढ़कर पकड़ लेंगे पेट

साल 2018 विदा होने वाला है और नया साल 2019 आने वाला है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस वर्ष सोशल मीडिय पर जमकर ट्रोल हुए।

साल 2018 में कब-कब फिसली राहुल गांधी की जुबान, मजेदार Tweets पढ़कर पकड़ लेंगे पेट

साल 2018 विदा होने वाला है और नया साल 2019 आने वाला है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस वर्ष सोशल मीडिय पर जमकर ट्रोल हुए। राहुल गांधी कई बार अपने भाषणों के दौरान कुछ ऐसा कर गुजरे हैं, जिससे वह सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो जाते हैं और साथ ही राजनीतिक दलों के निशाने पर भी आ जाते हैं। आमतौर पर भाषण के दौरान नेताओं की जुबान फिसलना तो आम बात है। फिसली हुई जुबान से निलके हुए शब्द अक्सर सुर्खियां बन जाते हैं, ऐसा ही कई बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हुआ है।

कब-कब फिसली राहुल गांधी की जुबान..

कुंभाराम लिफ्ट परियोजना...

हाल में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राजस्थान के झुंझुनू में एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उनकी जुबान फिसल गई। राहुल गांधी ने 'कुंभाराम लिफ्ट परियोजना' को गलती से 'कुंभकरण लिफ्ट परियोजना' बोल दिया, हालांकि उन्होंने तत्काल इस गलती को सुधार भी लेकिन इस बायन के कारण वे सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हुए और उनके इस बायन से पार्टी की भी फजीहत हुई।

राहुल गांधी के बायन का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। लोगों इन उनके इस भाषण पर जमकर कमैंट्स भी किए और भारतीय जनता पार्टी ने भी इस पर चुटकी ली। पीयूष गोयल ने राहुल गांधी को घेरते हुए कहा कि 'कुंभकर्ण लिफ्ट योजना? कुंभकर्ण तो फिर भी 6 महीने सोता था, कांग्रेस 60 साल तक सोई रही और देश को विकास से इतने वर्षों तक वंचित रखा।

राहुल गांधी BHEL को बता चुके हैं मोबाइल निर्माता कंपनी..

इससे पहले राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ में एक रैली के दौरान BHEL को मोबाइल निर्माता कंपनी बताई थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि ये जो मोबाइल है उन्होंने BHEL से क्यों नहीं खरीदा? उन्होंने आगे कहा कि बात को समझिए दिल्ली में राफेल घोटाला और छत्तीसगढ़ में मोबाइल घोटाला।

अपने इस बायन को लेकर राहुल गांधी सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हुए थे और वे अपने इस बयान के कारण विरोधियों के निशाने पर आ गए थे। जानकारी के लिए आपको बता दें कि BHEL यानि भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड मोबाइल नहीं बनाती है।

बस और ट्रक में भरा जाता है पेट्रोल..

नौ नवंबर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए था जिसमें वह कह रहे थे कि बस में, ट्रक में पेट्रोल भरा जाता है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद राहुल गांधी सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए थे। राहुल गांधी के वाडियो पर सोशल मीडिया यूजर लिखा कि जिसको ये नहीं पता कि बस और ट्रक में पेट्रोल भरते हैं या डीज़ल, वो ये देश को चलाएंगे, भाई कल को इंटरनेट नहीं चलेगा तो उसमें भी पेट्रोल भरवाएंगे क्या?

बता दें कि राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ के कांकेड़ में सभा को संबोधित करते हुए पेट्रोल- डीजल की बढ़ती कीमतों का जिक्र किया था। जब उन्होंने कहा कि ट्रक और बस के पेट्रोल से चलने की बात कही थी, लेकिन राहुल गांधी ने साथ मे बाइक-स्कूटर का भी जिक्र किया था लेकिन वायरल हुआ सिर्फ बस-ट्रक वाला बयान हालांकि तकनीकी रूप से राहुल गांधी ने गलत बोला था। उनका यह वीडियो अधूरा वायल हुए जा जिसमें बस और ट्रक का जिक्र था।

नॉनवेज खाने को लेकर ट्रोल हुए राहुल गांधी..

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा के बीच विवाद खड़ा हो गया था। नेपाल की स्थानिय मीडिया का मुताबिक राहुल गांधी ने नेपाल के एक रेस्तरां में नॉनवेज खाना खाया था। जिसके बाद से यह खबर आग की तरह फैल गई। इस पर राहुल गांधी को सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया गया था।

साथ ही भारतीय जनता पार्टी ने इस मुद्दा बना लिया था। हालांकि इस संबध में रेस्तरां ने दावा किया था कि राहुल गांधी ने नॉनवेज नहीं वेज खाना खाया था। जिसके बाद ये मामला थमा था।

राहुल गांधी जादू की झप्पी..

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान अपना भाषण खत्म करने के तुरंत बाद पीएम मोदी के पास पहुंचे और उनके गले गए गए। जब तक पीएम मोदी कुछ समझ पाते राहुल गांधी उनके गले लगने के बाद जाने लगे।

पीएम मोदी ने राहुल गांधी को वापस बुलाया और पीठ थपथपाई। राहुल गांधी की इस जादू की झप्पी से पूरे सदन का माहौल एक दम बदल गया था और हंसी के फव्वारे छूट पड़े थे।

सत्ता पक्ष के साथ-साथ विपक्ष के सभी सांसद भी अपनी हंसी को रोक नहीं पाए थे। बता दें कि राहुल गांधी ने भाषण के अंत में कहा था कि आपके लिए मैं पप्पू हो सकता हूं लेकिन, मैं नफरत नहीं करता हूं। इस बयान के तुरंत बाद राहुल अपनी सीट से सत्ता पक्ष की तरफ बढ़े पीएम मोदी के गले लग गए।

Loading...
Share it
Top