Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अलविदा 2018 : पाकिस्तान की राजनीति में इस ''हिंदू दलित महिला'' ने रचा इतिहास

इस साल 2018 में पाकिस्तान एक मुस्लिम देश है, वहां की राजनीति में हिंदू दलित महिला कृष्णा कोहली (किशू बाई) ने हिन्दुओं का नाम रोशन किया।

अलविदा 2018 : पाकिस्तान की राजनीति में इस

महिलाओं ने अपने वजूद के लिए संघर्ष किया है और खुद की क्षमताओं को पहचाना है, कामयाबी की नई कहानी लिखी है। पाकिस्तान एक मुस्लिम देश है, वहां की राजनीति में एक हिंदू दलित महिला का जगह बनाना बहुत बड़ी बात है। आइये जानते हैं इस हिंदू दलित महिला कृष्णा कोहली (किशू बाई) की कहानी...

पोलैंड की लेखिका, समाजकर्मी ओल्गा टोकार्जक (Olga Tokarczuk) को इस साल का अंतरराष्ट्रीय बुकर प्राइज मिला। यह सम्मान उन्हें उपन्यास ‘फ्लाइट्स’ के लिए दिया गया। ओल्गा टोकार्जक सर्वाधिक समीक्षकों द्वारा प्रशंसित और व्यावसायिक रूप से सफल लेखकों में से एक हैं। उन्होंने उपन्यासों के साथ-साथ कविताएं भी लिखी हैं।

मैक्सिको की वनीसा पोंस डिलियोन को साल 2018 के मिस वर्ल्ड खिताब से नवाजा गया है। प्रतियोगिता के 68 साल के इतिहास में खिताब अपने नाम करने वाली वह अपने देश की पहली महिला हैं। वनीसा ने यूनिवर्सिटी ऑफ गुवानाजु आटो से इंटरनेशनल कॉमर्स में डिग्री ली है और जनजातियों के बच्चों के स्कूल को मदद देती हैं।

पाकिस्तान एक मुस्लिम देश है, वहां की राजनीति में एक हिंदू दलित महिला का जगह बनाना बहुत बड़ी बात है। लेकिन कृष्णा कोहली ऐसा करने में कामयाब रहीं। उन्होंने पाकिस्तान सीनेट का चुनाव पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार के रूप में जीता। उन्हें किशू बाई के नाम से भी जाना जाता है।

बीस वर्षीय श्रुथि पलानिअप्पन इस साल प्रतिष्ठित हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट बॉडी की अध्यक्ष बनीं, वह भारतीय मूल की अमेरिकी हैं। उनके माता-पिता 1992 में चेन्नई से अमेरिका चले गए थे। अब वह हार्वर्ड यूनिवर्सिटी अंडरग्रेजुएट काउंसिल की अध्यक्ष हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top