Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शी जिनपिंग ने सेना में कटौती कर, युद्ध क्षमता बढ़ाने पर दिया जोर

पिछले साल ही दुनिया की सबसे बड़ी सेना में 3 लाख सैनिकों की कटौती करने का ऐलान किया गया था।

शी जिनपिंग ने सेना में कटौती कर, युद्ध क्षमता बढ़ाने पर दिया जोर
X
नई दिल्ली. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 23 लाख संख्या वाली चीनी सेना में एक बार फिर कटौती कर, उसकी युद्ध क्षमता को बढ़ाने की बात कही है। पिछले साल ही दुनिया की सबसे बड़ी सेना में 3 लाख सैनिकों की कटौती करने का ऐलान किया गया था। दो दिन की मिलिटरी रिफॉर्म कॉन्फ्रेंस में चिनफिंग ने कहा कि चीन की सेना को संख्या के बजाए तकनीक पर फोकस करने की जरूरत है। चिनफिंग सेंट्रल मिलिटरी कमिशन के चेयरमैन भी हैं, जो पीपल्स लिबरेशन आर्मी का हाई कमान है।
चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिंहुआ के मुताबिक जिनपिंग ने कहा, 'यह एक बड़ा और निश्चित बदलाव है। हमें इस मौके का फायदा उठाना चाहिए।' चीन के राष्ट्रपति ने सेनिकों की संख्या में कटौती करते हुए उसकी युद्ध क्षमता बढ़ाने पर जोर दिया।
पिछले साल सितंबर में जिनपिंग ने चीन की सेना से 3 लाख सैनिकों की कटौती करने का ऐलान किया था, जो कि अगले साल से होनी शुरू हो जाएगी। 1980 के दशक के बाद से चीन की सेना में चौथी बार कटौती की जा रही है। सेना में कटौती को पीपल्स लिबरेशन आर्मी की उस कोशिश का हिस्सा माना जा रहा है जिसमें सेना को नई तकनीक और हथियारों के साथ अद्वितीय तरीके से आधुनिक बनाया जा रहा है।
वैसे जिनपिंग के इस बयान के बाद उनके मिलिटरी रिफॉर्म्स को लेकर असंतोष की बातें भी सामने आ रही हैं। एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, भ्रष्टाचार-विरोधी मुहिम चलाकर सेना के कई रिटायर्ड और सेवारत टॉप अफसरों को पकड़ने के बाद चिनफिंग सेना के प्रशासनिक और कमान संरचना में बदलाव भी कर चुके हैं। वह सशस्त्र सेनाओं से सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के नेतृत्व के प्रति निष्ठावान रहने की बात कहते रहे हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story