Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पेट्रोल की बढ़ती कीमत ने बढ़ाई आम आदमी की मुश्किल, थोक महंगाई दर छह महीने के उच्चतम स्तर पर

खुदरा महंगाई दर में बढ़ोतरी होने के बाद अब थोक महंगाई दर में भारी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।

पेट्रोल की बढ़ती कीमत ने बढ़ाई आम आदमी की मुश्किल, थोक महंगाई दर छह महीने के उच्चतम स्तर पर

खुदरा महंगाई दर में बढ़ोतरी होने के बाद अब थोक महंगाई दर में भारी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। अक्टूबर महीने में थोक महंगाई दर अपने छह महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है।

अक्टूबर में थोक महंगाई दर 3.59 फीसदी रही। सितंबर में यह आकड़ा 2.6 फीसदी था। खाद्य और पेट्रोलियम उत्पादो की बढ़ती हुई कीमतों के कारण थोक महंगाई दर में यह बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।

वाणिज्य मंत्रालय की तरफ जारी किए गए आकड़ों के मुताबिक खाद्य उत्पादों की दर बढ़कर 3.23 फीसदी पहुंच गई है। सितंबर में यह आकड़ा 1.99 फीसदी था। अक्टूबर महीने में वेजिटेबल इंडेक्स 19.9 फीसदी के स्तर पर पहुंच गया है।

यह भी पढ़ेंः योगी आदित्यनाथ ने कहा- सेक्युलर शब्द सबसे बड़ा झूठ, पाकिस्तान गाली का पर्याय

थोक महंगाई सूचकांक के प्रमुख उत्पाद अक्टूबर महीने में 3.33 फीसदी तक पहुंच गए थे। अक्टूबर महीने में महंगाई बढ़ने की सबसे बड़ी वजह खाने-पीने के सामान का मंहगा होना रहा।

प्याज कीमतों में दुगना इजाफा देखने को मिल रहा है। अगले महीने रिजर्व बैंक मौद्रिक नीति की समीक्षा करने वाला है। इसमें रिजर्व बैंक ब्याज दर घटाने पर फैसला ले सकता है। बता दें कि इससे पहले हुए बैठक में रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कोई कटौती नहीं की थी।

Share it
Top