Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ट्विटर ने दो रूसी मीडिया आउटलेट्स के विज्ञापनों पर लगाया प्रतिबंध, मामला दर्ज

रूसी मीडिया ने इसकी आलोचना करते कहा कि ये कार्रवाई सोशल नेटवर्क पर अंतरराष्ट्रीय दखल रोकने के लिए काफी नहीं है और ट्विटर ने ये काम यूएसए सरकार के दबाव में किया हैं।

ट्विटर ने दो रूसी मीडिया आउटलेट्स के विज्ञापनों पर लगाया प्रतिबंध, मामला दर्ज
X

ट्विटर ने गुरुवार को रूसी मीडिया आउटलेट्स रूस टुडे (आरटी) और स्पुतनिक को 2016 के अमेरिकी चुनावों में हस्तक्षेप करने और उनके नेटवर्क पर विज्ञापन खरीदने को प्रतिबंधित कर दिया है। इसके बाद रूसी मीडिया ने इसकी आलोचना करते कहा कि ये कार्रवाई सोशल नेटवर्क पर अंतरराष्ट्रीय दखल रोकने के लिए काफी नहीं है और ट्विटर ने ये काम यूएसए सरकार के दबाव में किया हैं।

आरटी और स्पुतनिक ने इस फैसले की निंदा करते हुए कहा कि ट्विटर ने अपनी सेलिंग रणनीति के साथ विज्ञापन व्यय को प्रोत्साहित किया है, जबकि रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि यह प्रतिबंध अमेरिकी सरकार के दबाव के कारण लागू किया है और उसने इसका बदला लेने की योजना बनाई थी।

इसे भी पढें- राहुल का ट्विटर स्कैम, स्मृति ईरानी ने कसा तंज-'रूस जाकर लड़ना है चुनाव'

सैन फ्रांसिस्को स्थित ट्विटर ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में कहा है कि चुनाव में दखल सोशल नेटवर्क पर कुछ नहीं है। इसने यू.एस. की खुफिया एजेंसियों से इस साल एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि उसने आरटी और स्पुतनिक की अपनी जांच भी की है।

ट्विटर, फेसबुक और अल्बर्टाच, गूगल ने हाल ही में पता लगाया है कि संदिग्ध रूसी परिचालकों ने पिछले साल विज्ञापनों को खरीदने और उस सामग्री को पोस्ट करने के लिए इन प्लेटफार्मों का इस्तेमाल किया था जो राजनीतिक रूप से विभाजनकारी था। लेकिन रूस चुनाव में हस्तक्षेप करने से इंकार करता रहा है।

आरटी चुनाव के दौरान 2016 में विज्ञापन पर बड़ा खर्च करने के लिए ट्विटर के सेलिंग आधिकारियों पर दबाव डालने का आरोप लगाया। कि जितना पैसा आरटी ने खर्च किया है, उतना पैसा ट्विटर उपलब्ध कराएं।

इसे भी पढें- टीम इंडिया का यह खिलाड़ी बना पिता, सोशल मीडिया पर शेयर की तस्वीरें

आरटी ने ये भी कहा है कि ट्विटर के साथ किसी भी प्लेटफॉर्म के जरिए यू.एस. चुनाव को प्रभावित करने का एक एजेंडा जारी नहीं किया गया था।

अप्रैल में सुनवाई के दौरान रॉयटर्स ने बताया कि आरटी और स्पुतनिक रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को डोनाल्ड ट्रम्प में स्विंग करने और अमेरिकन चुनाव प्रणाली में मतदाताओं के विश्वास को कमजोर करने की एक योजना का हिस्सा थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story