Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चीन-हांगकांग के बीच 55 किलोमीटर लंबा समुद्री पुल तैयार, जानें इससे जुड़ी 10 अहम बातें

चीन-हांगकांग के बीच दुनिया का सबसे लंबा समुंद्री पुल बन कर तैयार हो गया है। 24 अक्टूबर यानि बुधवार को इसको आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।

चीन-हांगकांग के बीच 55 किलोमीटर लंबा समुद्री पुल तैयार, जानें इससे जुड़ी 10 अहम बातें
X

चीन-हांगकांग के बीच दुनिया का सबसे लंबा समुंद्री पुल बन कर तैयार हो गया है। 24 अक्टूबर यानि बुधवार को इसको आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा। इस पुल की लंबाई 55 किलोमीटर लंबी है। रिपोर्ट के मुताबिक, 55 किलोमीटर लंबा यह पुल विश्व का सबसे लंबा समुद्री पुल है।

जानें इस पुल से जुड़ी 10 अहम बातें....

1. चीन-हांगकांग के बीच इस पुल का निर्माण 9 साल पहले 2009 में शुरु हुआ था। 24 अक्तूबर लोगों के लिए ये पुल यातायात के लिए खोल दिया जाएगा।

2. इस पुल का नाम 'हॉन्ग कॉन्ग-झुहाई-मकाउ' पुल रखा गया है। ये दुनिया का छठा सबसे लंबा पुल है और विश्व का सबसे लंबा पुल का रिकोर्ड भी इसके नाम हो जाएगा।

3. चीन से हॉन्ग-कॉन्ग जाने के लिए लोगों को 3 घंटे का सफर करना होता था लेकिन अब सिर्फ 30 मिनट में ही लोगों इन दोनों जगहों पर पहुंच सकेंगे।

ये भी पढ़ें - भारत और पाक के बीच आज होगी DGMO लेवल की बातचीत, आतंकवाद पर होगा मुद्दा

4. समुद्र के ऊपर बने इस पुल को बनाने में 4 लाख टन स्टील लगा है। ये स्टील 60 एफिल टॉवर के वजन के बराबर है। इसके मुताबिक, इस पुल के निर्माण पर 20 अरब डॉलर की लागत आई है।

5. बता दें कि दुनिया के ये सबसे लंबा पुल साउथ चाइना सी पर पर्ल रिवर डेल्टा के पूर्वी और पश्चिमी छोर को जोड़ेगा। जो आसानी से आपको हांगकांग पहुंचा देगा।

6. वहीं दूसरी तरफ झुहाई चीनी मैनलैंड पर बसा शहर है, जो अब हांगकांग और मकाऊ, दोनों स्पेशल एडमिनिस्ट्रेटिव रीजन से जोड़ देगा।

7. इस सी ब्रिज को बनाने की इंजीनियरों की तकनीक बहुत शानदार है। ये पुल चीन के ग्रेटर बे इलाके में व्यापार को बढ़ा देगा। जिसकी वजह से ये इलाका इकॉनमिक हब बन जाएगा।

8. बता दें कि इस तरह का पुल भारत में भी बना है। चीन का यह सी ब्रिज मुंबई के ब्रिज बांद्रा वर्ली सी लिंक ब्रिज से करीब 10 गुना बड़ा है। ये पुल तारों पर टिका हुआ है। जो 8 लेन का है।

9. एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस पुल को बनाने में कई हजारों वर्कर्स ने काम किया और बहुत मेहनत की है। इसके लिए 6 साल तक प्लानिंग की गई और 8 साल पुल बनाने में लगे।

10. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया के इस सबसे लंबे पुल के उद्घाटन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग समारोह में भाग लेंगे वहीं हांगकांग से भी प्रमुख शामिल होंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story