Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत में हार्ट अटैक और कैंसर से होती है 75 प्रतिशत मौत: WHO

यह जनस्वास्थ्य के लिहाज से आपात स्थिति है।

भारत में हार्ट अटैक और कैंसर से होती है 75 प्रतिशत मौत: WHO
नई दिल्ली. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने मंगलवार को एक रिपोर्ट जारी कर बताया कि दक्षिण-पूर्वी एशियाई क्षेत्र में वायु प्रदूषण से हर साल करीब आठ लाख लोगों की मौत हो रही है, जिसमें से 75 प्रतिशत से अधिक मौतें हृदय रोगों और फेफड़े के कैंसर के चलते अकेले भारत में होती हैं। रिपोर्ट के अनुसार विश्व में 10 व्यक्तियों में से नौ खराब गुणवत्ता की हवा में सांस ले रहे हैं, जबकि वायु प्रदूषण से होने वाली मौतों में से 90 प्रतिशत मौतें निम्न एवं मध्यम आय वाले देशों में होती हैं। वहीं तीन मौतों में से दो मौतें भारत एवं पश्चिमी प्रशांत क्षेत्रों सहित डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्वी एशिया में होती हैं।
94 प्रतिशत मौतें गैर-संचारी बीमारियों से
डब्ल्यूएचओ के जनस्वास्थ्य एवं पर्यावरण विभाग प्रमुख मारिया नीएरा ने कहा, 'यह जनस्वास्थ्य के लिहाज से आपात स्थिति है।' रिपोर्ट में इसके साथ ही परिवहन के अक्षम साधनों, घरों में इस्तेमाल होने वाले ईंधन और कूड़ा जलाने, कोयला आधारित बिजली संयंत्रों और औद्योगिक गतिविधियों के खिलाफ कदम मजबूत उठाने का आह्वान किया गया, जो कि वायु प्रदूषण के प्रमुख स्रोतों में हैं। अमर उजाला की खबर के मुताबिक, इसमें कहा गया कि 94 प्रतिशत मौतें गैर-संचारी बीमारियों से होती हैं, जिसमें मुख्य तौर पर हृदय रोग, फेफड़े के रोग, फेफड़े का कैंसर शामिल हैं. वायु प्रदूषण श्वसन संक्रमण का खतरा बढ़ाता है।
रिवेशी वायु प्रदूषण रिपोर्ट-2016
डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्वी एशियाई क्षेत्र के बयान में कहा गया, 'वायु प्रदूषण स्वास्थ्य के लिए विश्व का सबसे बड़ा पर्यावरणीय खतरा है और इसका समाधान प्राथमिकता के आधार पर होना चाहिए, क्योंकि इसका बढ़ना जारी है। डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्वी एशियाई क्षेत्र ने डब्ल्यूएचओ की परिवेशी वायु प्रदूषण रिपोर्ट-2016 को उद्धृत करते हुए कहा कि भारत में 6,21,138 लोगों की मौत एक्यूट लोअर रेसपेरेटरी इंफेक्शन, क्रॉनिक आब्सट्रक्टिव पलमोनरी डिसऑर्डर, इस्केमिक हर्ट डीजीज और फेफड़े के कैंसर से हुई. हालांकि भारत का यह आंकड़ा 2012 का है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top