Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत को लेकर विश्व बैंक की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, कारोबार शुरू करने में लगते हैं 29 दिन

बसु ने बातचीत में कहा, किसी भी बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए 12 पायदान का सुधार एक उल्लेखनीय उपलब्धि है।

भारत को लेकर विश्व बैंक की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, कारोबार शुरू करने में लगते हैं 29 दिन

वाशिंगटन. भारत कारोबार शुरू करने के लिहाज से बेहतर स्थान बन गया लेकिन यहां कारोबार प्रारंभ करने की औपचारिकताओं में 29 दिन लगते हैं और कारोबार करने वालों को 12 विभिन्न प्रकार की प्रक्रियाओं को पूरा करना पड़ता है।

ये भी पढ़ें : बजाज ने लॉन्च की तीन नई बाइक, कीमत और फीचर्स जानकर रह जाएंगे हैरान

विश्वबैंक द्वारा जारी नई रैंकिंग में भारत कारोबार सुगमता के लिहाज से 189 देशों में भारत ने 130वां स्थान पर आ गया है जो उल्लेखनीय सुधार बताया जा रहा है। पिछले साल देश की रैंकिंग 142वीं थी। हालांकि बाद में इसे संशोधित कर 134वां कर दिया गया था।

रपट में कहा गया, भारत ने कंपनी शुरू करने के लिए न्यूनतम शेयर पूंजी अनिवार्यता और व्यवसाय शुरू करने का प्रमाण-पत्र दाखिल करने की अनिवार्यता खत्म कर नया कारोबार शुरू करना आसान बना दिया है। यह सुधार दिल्ली और मुंबई दोनों जगह लागू हो चुका है।

भारत की कुल रैंकिंग 10 कारकों कारोबार की शुरुआत (155वां), निर्माण मंजूरी (183), बिजली प्राप्त करना (70), संपत्ति पंजीकरण (138), रिण (42), छोटे निवेशकों की सुरक्षा (8), कर भुगतान (157), सीमा पार व्यापार (133), अनुबंध कार्यान्वयन (178) और दिवालियापन के मामलों समाधान (136वां स्थान) पर निर्भर है। कारोबार शुरू करने के लिहाज से भारत की स्थिति सुधर कर 155वें पायदान पर आ गई है। देश पिछले साल की रैंकिंग में 164वें स्थान पर था।

भारत कारोबार सुगमता में 130वें स्थान पर

भारत कारोबार के लिए सुगमता की दृष्टि से विश्वबैंक की ओर से जारी की जाने वाली वार्षिक रैंकिंग में इस बार 189 देशों में अपनी स्थिति बेहतर कर 130वें स्थान पर पहुंच गया है जो पिछले साल से 12 स्थान ऊंचा है। विश्वबैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसे 'उल्लेखनीय उपलब्धि' कहा है। विश्व बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री और वरिष्ठ उपाध्यक्ष कौशिक बसु ने भारत की रैंकिंग पर अपनी टिप्पणी में कहा, 'कारोबार में सुगमता की रैंकिंग में 12 पायदान ऊपर चढ़ना भारत जैसे आकार की अर्थव्यवस्था के लिए 'उल्लेखनीय उपलब्धि है।'

ये भी पढ़ें : अब चप्पल, जूते, कपड़े के बाद सीमेंट भी मिलेगा ऑनलाइन, रिलायंस ने की सेवा शुरू

बसु ने बातचीत में कहा, किसी भी बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए 12 पायदान का सुधार एक उल्लेखनीय उपलब्धि है। पिछले साल भारत 142वें स्थान पर था उसे देखते हुए 130वें स्थान पर पहुंचना बहुत अच्छा संकेत है। कारोबार में सुगमता पर विश्वबैंक की रपट-2016' में सिंगापुर प्रथम स्थान पर है।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, 100 में शामिल होना असंभव नहीं-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top