Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ब्रह्मोस के लिए तैयार किये जा रहे हैं 40 सुखोई लड़ाकू विमान, दुश्मनों के उड़ाएंगे छक्के

ब्रह्मोस के प्रक्षेपण के लायक बनाने के लक्ष्य से सरकारी हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड में इन 40 सुखोई विमानों में संरचनात्मक संशोधन किये जाएंगे।

ब्रह्मोस के लिए तैयार किये जा रहे हैं 40 सुखोई लड़ाकू विमान, दुश्मनों के उड़ाएंगे छक्के

सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का 40 सुखोई लड़ाकू विमानों में परिवर्तन करने का काम शुरू किया जा रहा है। ताकि वे इंडियन एयर फोर्स की महत्वपूर्ण जरूरतों को पूरा करते हुए इन मिसाइलों को लॉन्च कर सकें।

आपको बता दें कि 22 नवंबर को सुखोई-30 एमकेआइ सुपरसोनिक लड़ाकू विमान से मिसाइल का सफल प्रक्षेपण किया गया था। इसके साथ ही इंडियन एयर फोर्स की मारक क्षमता में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई है। एयर फोर्स के लिए इस मील का पत्थर माना जा रहा है।

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान में चर्च पर हमला, 4 की मौत, 25 घायल

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार 40 सुखोई विमानों को ब्रह्मोस को प्रक्षेपित करने के लिए तैयार करने का काम शुरू हो गया है। इस परियोजना की समय सीमा तय हो गयी है। परियोजना 2020 तक पूरा होने की उम्मीद है।

ब्रह्मोस के प्रक्षेपण के लायक बनाने के लक्ष्य से सरकारी हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड में इन 40 सुखोई विमानों में संरचनात्मक संशोधन किये जाएंगे। 2.5 टन की यह मिसाइल ध्वनि की गति से तीन गुनी बताई जा रही है। इसकी मारक क्षमता 250 किलोमीटर है।

यह भी पढ़ें- जोहान्सबर्ग: भारत ने राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप के पहले दिन झटके 20 पदक

पिछले वर्ष मिसाइल टेक्नॉलजी कंट्रोल रेजीम (एमटीसीआर) का पूर्ण सदस्य बनने के बाद देश भारत-रूस संयुक्त उद्यम की मिसाइल की रेंज को 400 किलोमीटर सीमा तक बढ़ा सकता है। ब्रह्मोस मिसाइल भारत के सुखोई-30 लड़ाकू विमानों पर तैनात होने वाला सबसे बड़ा हथियार है।

Next Story
Share it
Top