Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

परिवारों के कल्याण के लिए महिला सशक्तीकरण जरूरी: मोदी

पीएम मोदी ने कहा परिवार में जब हम महिलाओं को सशक्त करेंगे तो हम पूरे घर को सशक्त बनाएंगे... जब हम महिलाओं को शिक्षित करते हैं तो हम पूरे परिवार की शिक्षा सुनिश्चित करते हैं।

परिवारों के कल्याण के लिए महिला सशक्तीकरण जरूरी: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि परिवारों का कल्याण सुनिश्चित करने के लिए महिला सशक्तीकरण आवश्यक है। उन्होंने कहा कि राजग सरकार ने पिछले चार वर्षों में उनके उत्थान के लिए कई योजनाओं की शुरुआत की है।

ये भी पढ़ें- आदिवासी युवक की हत्या पर ट्वीट कर फंसे वीरेंद्र सहवाग, मांगी माफी

तमिलनाडु की दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की 70वीं जयंती के मौके पर कामकाजी महिलाओं के लिए रियायती दर पर स्कूटर योजना की शुरुआत की।
योजना की पहली पांच लाभार्थियों को चाभी और पंजीकरण सर्टिफिकेट देते हुए उन्होंने कहा, ‘‘वह जहां भी होंगी, मुझे विश्वास है कि आपके चेहरे पर खुशी देखकर वह काफी खुश होंगी।'
इसे जयललिता की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक बताते हुए मोदी ने कहा कि उन्हें खुशी है कि इस मौके पर वह मौजूद हैं। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम समेत कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।
तालियों की गड़गड़ाहट के बीच मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत तमिल में करते हुए कहा, ‘‘तमिल मनिलाथिरकुम, मोझिकुम परम्बरियाथिरकुम, उंगालुक्कुम, नान थलाई वनानगुगिरेन (मैं तमिलनाडु राज्य, तमिल भाषा और संस्कृति का अभिनंदन करता हूं)।' उन्होंने तमिल में कहा कि वह क्रांतिकारी कवि सुब्रमण्यम भारती की धरती पर आकर गर्व महसूस करते हैं।
मोदी ने दिवंगत मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें ‘‘सेल्वी जयललिता जी' कहकर संबोधित किया। मोदी द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत कामकाजी महिलाओं को दो पहिया वाहन की खरीद पर 50 फीसद रियायत दी जाएगी और इसकी अधिकतम सीमा 25 हजार रुपये होगी।
उन्होंने इस योजना का लाभ हासिल करने वाली पांच महिलाओं को चाभी और पंजीकरण प्रमाणपत्र की प्रति सौंपी। उन्होंने जयललिता की 70वीं जयंती के मौके पर 70 लाख पौधे लगाने के अभियान की भी शुरुआत की।
उन्होंने कहा कि ये दोनों अभियान महिला सशक्तीकरण और प्रकृति के संरक्षण की दिशा में अहम कदम साबित होंगे। महिलाओं के कल्याण पर मोदी ने कहा कि महिलाओं की अच्छी सेहत पूरे परिवार को स्वस्थ रखती है और ‘‘जब हम उसका भविष्य सुरक्षित रखते हैं तो हम पूरे घर का भविष्य सुरक्षित करते हैं।'
पिछले चार वर्षों में राजग सरकार की उपलब्धियों पर उन्होंने कहा कि इसने किसानों, छोटे व्यापारियों के लिए आसान ऋण शुरू किए और प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत चार लाख 60 हजार करोड़ रुपये का रिण बिना बैंक गारंटी के जारी किया गया। जिन लोगों को रिण जारी किया गया, उनमें से 70 फीसदी लाभार्थी महिलाएं हैं।
उन्होंने कहा कि अगले वित्त वर्ष में महिला कर्मचारियों के ईपीएफ में कर्मचारी की तरफ से अंशदान 12 फीसदी से कम कर आठ फीसदी कर दिया गया है जबकि कंपनी का अंशदान 12 फीसदी रहेगा।
इस मौके पर पलानीस्वामी ने अपने संबोधन में मोदी से अनुरोध किया कि वह कावेरी प्रबंधन बोर्ड और कावेरी जल नियामक समिति का गठन करें जैसा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा निर्देशित किया गया था।
Next Story
Top