Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बेड़ियां तोड़ रही सऊदी की महिलाएं, पुरुष की इजाजत के बिना करेंगी कारोबार

पहले यहां पर महिलाओं को कारोबार शुरू करने के लिए पति या पुरुष परिजन की अनुमति जरूरी होती थी। अब ऐसा नहीं होगा।

बेड़ियां तोड़ रही सऊदी की महिलाएं, पुरुष की इजाजत के बिना करेंगी कारोबार

महिलाओं की आजादी को लेकर जो काम सऊदी अरब कर रहा है वह वास्‍तव में तारीफ के काबिल है। बीते कुछ समय से सऊदी अरब लगातार महिलाओं के हक में फैसले ले रहा है। कभी मुस्लिम कट्टरपंथी के तौर पर पहचाने जाने वाले इस देश ने अब इसको छोड़ने का मन बना लिया है।

यही वजह है कि सऊदी अरब ने एक बार फिर से धमाकेदार फैसला लेते हुए महिलाओं को कारोबार शुरू करने का हक दे दिया है। यह उन तमाम सामाजिक सुधारों की कोशिशों में से एक है, जो क्राउन प्रिंस मोहम्मद सलमान की अगुवाई में किए जा रहे हैं।

आपको बता दें कि ताजा फैसले से पहले यहां पर महिलाओं को कारोबार शुरू करने के लिए पति या पुरुष परिजन की अनुमति जरूरी होती थी। अब ऐसा नहीं होगा।

बदलने की दिशा में फिर बड़ा कदम

यह फैसला दशकों से वहां चली आ रही सख्त अभिभावक प्रथा को बदलने की दिशा में बड़ा कदम है। इसकी जानकारी बाकायदा सऊदी वाणिज्य एवं निवेश मंत्रालय दी गई है।

वेबसाइट पर कहा गया है कि अभिभावक की मंजूरी का प्रमाण दिए बिना महिलाएं अब अपना कारोबार शुरू कर सकती हैं। वे सरकार की ई-सेवाओं का लाभ उठा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें- पाकिस्तान: हाफिज पर कार्रवाई सिर्फ दिखावा, ये है पाक का असली सच

अभी तक महिलाओं को किसी भी सरकारी काम, यात्रा या कक्षा में नामांकन के लिए पति, पिता या भाई से इजाजत लेनी होती थी। लंबे समय से कच्चे तेल के राजस्व पर निर्भर सऊदी अरब में निजी क्षेत्र के विस्तार को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसमें महिलाओं को रोजगार देना भी शामिल है।

महिला जांचकर्ताओं की तैनाती

इसी महीने सऊदी लोक अभियोजक कार्यालय ने पहली बार महिला जांचकर्ताओं की बहाली शुरू करने को एेलान किया। सऊदी सरकार हवाई अड्डों और सीमा क्रासिंग पर 140 पदों पर महिलाओं की नियुक्ति करेगी।

इसके लिए एक लाख सात हजार महिलाओं ने आवेदन किया। सऊदी अरब में हाल के महीनों में कर्मचारी के तौर पर महिलाओं की भूमिका बढ़ाने का अभियान चलाया गया है।

Next Story
Top