Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कावेरी विवाद: बिरयानी और 100 रु. के लालच में महिला ने जला दीं 42 बसें

प्रदर्शन में शामिल होने के लिए भाग्या को उनके दोस्तों ने 100 रुपए और एक प्लेट मटन बिरयानी का लालच दिया था।

कावेरी विवाद: बिरयानी और 100 रु. के लालच में महिला ने जला दीं 42 बसें
बेंगलुरु. तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच कावेरी नदी के पानी के बंटवारे को लेकर चल रहे विवाद में पिछले सप्ताह बेंगलुरू में तमिलनाडु के एक ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर की 42 बसों में आग लगा दी गई थी। जिसके बाद आम लोगों के प्रदर्शन में हिंसा भड़क गई थी। बेंगलुरू में सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारियों ने कई बसों और ट्रकों को आग के हवाले कर दी थी।
इस मामले को लेकर बेंगलुरु में 12 सितंबर को हुई आगजनी और तोड़फोड़ में गिरफ्तार की गई 22 साल की सी. भाग्या नाम की महिला के बारे में चौंकाने वाली खबर आई है। आगजनी में शामिल 22 वर्षीय महिला भाग्या पर 42 बसों को जलाने का आरोप है, वहीं पता चला है कि इसके एवज में उसे महज एक सौ रुपये और एक प्लेट मटन बिरयानी का ऑफर दिया गया था।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार बेंगलुरू में 12 सितंबर को हुई आगजनी के बाद गिरफ्तार किए गए 11 संदिग्ध लोगों में सी भाग्या नाम की महिला भी शामिल है। भाग्या की मां येलम्मा ने मीडिया को बताया कि प्रदर्शन में शामिल होने के लिए उनकी बेटी को उनके दोस्तों ने 100 रुपए और एक प्लेट मटन बिरयानी का लालच दिया था।
सीसीटीवी फुटेज और मौके पर बने वीडियो से जुटाए सबूत
तमिलनाडु की केपीएन ट्रांसपोर्ट कंपनी की बसों में भाग्या और उसके साथियों ने आगजनी की थी और कर्मचारियों को जलाने की धमकी भी दी थी। गैरेज में लगे सीसीटीवी कैमरों और ट्रांसपोर्ट कंपनी के एक कर्मचारी द्वारा मोबाइल में बनाए वीडियो में भाग्या और उसके साथी आग लगाते हुए दिख रहे हैं। पुलिस का कहना है कि फुटेज में अन्य महिलाएं भी दिख रही हैं पर यह साफ नहीं कहा जा सकता कि आगजनी में उनकी क्या भूमिका थी।
मजदूरी करती है सी. भाग्या
भाग्या अपने परिवार के साथ केपीएन गैरेज के पास ही रहती है और मजदूरी कर अपना घर चलाती है। उसकी मां ने बताया कि उनके कुछ जानने वालों ने प्रदर्शन में हिस्सा लेने के बदले उसे एक प्लेट मटन बिरयानी और 100 रुपये देने की पेशकश की थी।
बेंगलुरू में 12 सितंबर को हुई हिंसा के बाद अलग-अलग मामलों में करीब 400 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। भाग्या को पूछताछ के लिए हिरासत में रखा गया है। हालांकि पुलिस का यह भी कहना है कि यह साफ नहीं है कि केपीएन के गैरेज में आग लगाने वाली भीड़ की मुखिया भाग्या ही थी, लेकिन यह कहा जा सकता है कि वह उस भीड़ का हिस्सा थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top