Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिग बाजार से पैसा निकलवाना लोगों के लिए रहा सुविधाजनक

बिग बाजार का कहना है कि उनका मकसद लोगों को कैश की सुविधा देना है।

बिग बाजार से पैसा निकलवाना लोगों के लिए रहा सुविधाजनक
X
नई दिल्ली. सरकार लोगों को राहत दिलाने के लिए हर तरीके अपना रही है। 24 नवंबर से सरकार ने बिग बाजार से डेबिट कार्ड के जरिए 2 हजार रु. निकलवाने का रास्ता निकाला है। जिससे लोगों को परेशानी न हो। देश भर के 115 से ज्यादा शहरों में बिग बाजार और एफबीबी के 258 स्टोर हैं।
पहले दिन ही बिग बाजार में पैसे लेने वालों की भीड़ लगी रही। लोगों ने कहा कि यह बैंक कार्यालयों और एटीएम के बाहर घंटों कतार लगाने के मुकाबले काफी सुविधाजनक रहा। बिग बाजार से नकदी निकालने का गुरुवार को पहला दिन था।
बिग बाजार में डेबिट कार्ड स्वेप कराकर पैसे मिलने की सूचना के बाद ही लोग इंतजार कर रहे थे। इसलिए स्टोर खुलने के पहले से ही लोग पहुंच गए थे। जैसे ही स्टोर खुला, लोगों ने प्रबंधक से डेबिट कार्ड स्वेप कराकर पैसे मांगने लगे। हालांकि बिग बाजार प्रबंधक ने एग्जिट गेट के बाहर काउंटर लगा दिया था।
यहां पर लोगों ने लाइन लगाई हुई थी। सबको टोकन और समय दिया जा रहा था। लोग अपनी बारी में आकर पैसे ले रहे थे। बिग बाजार प्रबंधकों ने बताया कि जो पैसा खरीदारी से आ रहा है उसी को हम लोग लाइन में लगने वाले लोगों के डेबिट कार्ड स्वाइप करके दे रहे हैँ।
अंग्रेजी अखबार के अनुसार, कैश की किल्लत से जूझ रही जनता को जब बिग बाजार में से स्वाइप मशीनों की मदद से कैश मिलने लगा तो खुशी भी कम नहीं थी। लोगों को एयरकंडीशन एरिया का भी फायदा मिल रहा था तो वहीं बैठने के लिए आरामदायक जगह भी। लिहाजा 2000 का नोट लेकर निकलने वालों ने इसे राहत का बाजार करार दिया।
बिग बाजार का कहना है कि उनका मकसद लोगों को कैश की सुविधा देना है। बिग बाजार में पैसे निकालने के लिए खरीदारी की कोई शर्त नहीं है। कुछ बैंकों के डेबिट कार्ड से पैसे नहीं निकलने पर बिग बाजार (दिल्ली-एनसीआर) के वाईस प्रेजिडेंट विनीत जैन ने कहा कि इससे बिग बाजार का कोई लेना देना नहीं है। जो एसबीआइ स्वाइप मशीने इस्तेमाल में आ रही हैं, उनका जिन बैंकों से टाइअप है सिर्फ वहीं लोग अपने डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कर पैसे निकाल सकते हैं। फिलहाल बिग बाजार अपना सर्कुलेशन का पैसा ही मिनी एटीएम के जरिए लोगों को दे रहा है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story