Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पीएम मोदी ने इसलिए उठाया बलूचिस्तान का मुद्दा

नौकरशाहों ने पीएम मोदी को बलूचिस्तान का जिक्र न करने की सलाह दी थी।

पीएम मोदी ने इसलिए उठाया बलूचिस्तान का मुद्दा
नई दिल्ली. पीएम मोदी की भारत के 70 वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बलूचिस्तान के जिक्र करने की वजह सामने आई है। ऑल पार्टी की बैठक में नेताओं की सहमति के चलते पीएम मोदी ने बलूचिस्तान का जिक्र किया था। गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर बलूचिस्तान के मु्द्दे पर सहमत थे। बता दें कि शीर्ष अफसरों और नौकरशाहों ने पीएम मोदी को इतने बड़ें अवसर पर बलूचिस्तान का जिक्र न करने की सलाह दी थी।

दोनों देशों में बढ़ सकता है तनाव
बता दें कि स्वतंत्रता दिवस के भाषण से पहले पीएम मोदी अपने शीर्ष सहायकों से मिले थे और इन्होंने पीएम मोदी को बलूचिस्तान के मुद्दे पर आगाह किया था। अधिकारियों का मानना था कि इस अवसर पर बलूचिस्तान का जिक्र करना भारत के हित में नहीं होगा। अधिकारियों ने यह भी कहा था कि इस बात से परमाणु संपन्न दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति पैदा हो सकती है जिसकी वजह से कश्मीर मुद्दे पर बवाल हो सकता है और तीसरे युद्ध की संभावना भी।

बैठक में नेताओं में था आक्रोश
शीर्ष अफसरों ने बताया कि अगस्त में हुई ऑल पार्टी की बैठक में मौजूद नेता काफी आक्रामक रुख के पक्ष में थे। बता दें कि बैठक में मौजूद नेता कश्मीर मुद्दे पर पाक के बयान से क्रोधित थे और इस वजह से पीएम मोदी ने अपने भाषण में पाक के प्रति कड़ा रवैया अपनाते हुए बलूचिस्तान के मु्द्दे पर सहमति जताई।
राजनाथ और पर्रिकर ने जताई सहमति
एनबीटी की खबर के मुताबिक, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने अधिकारियों की बात को न मानते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ पीएम मोदी को समर्थन दिया। राजनाथ का कहना था कि पाक को शांत करने के लिए हमे सब कुछ करना होगा। बता दें कि पीएम की स्पीच को लेकर विदेश मंत्रालय की तरफ से कोई टिप्पड़ी नहीं की गई थी। वहीं, पीएमओ, गृह मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय से भी इस ओर कोई कमेंट नही आया था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top