Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

WhatsApp ने सरकार को भेजा जवाबः अफवाह फैलाने वाले मैसेज रोकने के लिए उठाया बड़ा कदम

व्हाट्सअप ने अपने जवाब में बताया कि उन्होंने हमारी शिकायत के बाद व्हाट्सअप पर एक नए फीचर को लॉन्च किया है। जिसके तहत व्हाट्सअप पर ग्रुप एडमिन अब यह तय कर सकेगा कि किसी भी ग्रुप में कौन मैसेज भेज सकता है।

WhatsApp ने सरकार को भेजा जवाबः अफवाह फैलाने वाले मैसेज रोकने के लिए उठाया बड़ा कदम

देशभर में व्हाट्सअप के जरिए फेक मैसेज फैलाने के बाद मॉब लिंचिंग की घटनाओं में हुई बढ़ोत्तरी को लेकर सरकार ने व्हाट्सअप को नोटिस जारी किया था। जिसमें सरकार ने व्हाट्सअप से शिकायत की थी कि कुछ शरारती तत्व व्हाट्सअप के जरिए भड़काऊ और गलत जानकारी को फैला रहे हैं।

सरकार ने व्हाट्सअप को भेजा नोटिस

जिसके कारण लोग आसानी से इन फेक मैसेज पर भरोसा कर बिना सोचे समझे किसी भी हद तक किसी भी घटना को अंजाम देते हैं। सरकार ने व्हाट्सअप से अपनी शिकायत में कहा कि हमने पाया कि व्हाट्सअप पर फैलाए गए भड़काऊ और गलत मैसेज हिंसा को भड़काने में अहम रोल अदा कर रहे हैं।सरकार की तरफ से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जब हमने भारत में व्हाट्सअप, फेसबुक और ट्वीटर को आने पर उनका स्वागत किया था तो हमने उसी समय उन्हें उत्तरदायी, जिम्मेदार और सतर्क रहने की भी गुजारिश की थी। केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि इसे लेकर कल हमने व्हाट्सअप को एक नोटिस जारी किया था।

व्हाट्सअप ने लॉन्च किया नया फीचर

जिसके जवाब में व्हाट्सअप ने अपने हमें अपना जवाब भेज दिया है। व्हाट्सअप ने अपने जवाब में बताया कि उन्होंने हमारी शिकायत के बाद व्हाट्सअप पर एक नए फीचर को लॉन्च किया है। जिसके तहत व्हाट्सअप पर ग्रुप एडमिन अब यह तय कर सकेगा कि किसी भी ग्रुप में कौन मैसेज भेज सकता है

इसके अलावा व्हाट्सअप ने इस बात का भी आश्वासन दिलाया है कि हम इस बात पर भी नजर रखेंगे कि कोई भी मैसेज बिना पढ़े और समझे बिना आगे कहीं भी भेजा ना जा सके। रवि शंकर प्रसाद ने व्हाट्सअप की इस पहल का स्वागत किया है।

मॉब लिंचिंग में लोगों ने गवाई जान

गौरतलब है कि अभी कुछ ही दिनों पहले महाराष्ट्र में व्हाट्सअप पर फेक मैसेज के बाद धुले में गांववालों ने पांच लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इसके अलावा और भी ऐसी कई घटनाएं है जहां व्हाट्सअप मैसेज के बाद मॉब लिंचिंग की घटनाओं के चलते लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी।

आपको बता दे कि इन घटनाओं के बाद सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि सरकार इस बात को सुनिश्चित करे कि देश में मॉब लिंचिंग के चलते किसी की जान ना जाएं। जिसके बाद ही केंद्र सरकार ने व्हाट्सअप को नोटिस जारी कर इस दिशा में कोई सख्त कदम उठाने को कहा था।

Next Story
Top