Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

फैसले को वापस लेना मोदी के खून में नहीं: वेंकैया नायडू

लोकसभा और राज्यसभा में नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार और विपक्ष के बीच जुबानी जंग जारी है।

फैसले को वापस लेना मोदी के खून में नहीं: वेंकैया नायडू
नई दिल्ली. एक तरफ नोटबंदी को लेकर विपक्ष सरकार पर हल्ला बोला है तो दूसरी ओर सरकार के मंत्री और नेता पीएम मोदी के फैसले का समर्थन लेने में पीछे नहीं हट रहे हैं। वेंकैया नायडू ने कहा कि नोटबंदी का फैसला किसी भी हालत में वापस नहीं लिया जाएगा. सरकार 'सुधार के लिए तैयार है। उन्होंने विपक्षी पार्टियों से यह भी कहा कि यदि उनके पास कोई सुझाव है, तो उसे जाहिर करें।
नायडू ने आगे कहा कि गरीब जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मसीहा मानती है और चाहती है कि नोटबंदी का फैसला सफल हो। उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि विपक्ष नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा करना ही नहीं चाहता है, हर बार हंगामा कर दिया जाता है। नायडू ने कहा कि भागना और हंगामा करना तो विपक्ष की फितरत ही बन चुकी है। संसद में विपक्ष के जोरदार हंगामे के बाद लोकसभा को कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है तो वहीं राज्यसभा को 2 बजे तक के लिए। लोकसभा में विपक्ष ने आज भी नोटबंदी के मुद्दे पर जोरदार हंगामा किया।
लोकसभा और राज्यसभा में नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार और विपक्ष के बीच जुबानी जंग जारी है, जिससे इस शीतकालीन सत्र में अब तक हर दिन दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ रही है। उरी आतंकवादी हमले के शहीदों की तुलना नोटबंदी के फैसले के बाद की मुश्किलों की चपेट में आकर दम तोड़ने वालों से करने के लिए विपक्षी नेताओं पर बरसते हुए नायडू ने कहा कि यह शर्मनाक है…..बहुत दुर्भाग्यपूर्ण । वे मुद्दे का राजनीतिकरण कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शक्ति प्रदर्शन करते हुए बुधवार को नोटबंदी के खिलाफ जनसभा की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला तेज करते हुए आरोप लगाया कि देश उनके हाथों में सुरक्षित नहीं है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Share it
Top