Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वेनेजुएला में राजनीतिक संकट के बीच राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने दी ये धमकी

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने विपक्षी नेता जुआन गुएडो को अलग-थलग करने की कोशिश के तहत समय पूर्व संसदीय चुनाव कराने की धमकी दी है।

वेनेजुएला में राजनीतिक संकट के बीच राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने दी ये धमकी
वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने विपक्षी नेता जुआन गुएडो को अलग-थलग करने की कोशिश के तहत समय पूर्व संसदीय चुनाव कराने की धमकी दी है। गुएडो संसद अध्यक्ष हैं लेकिन उन्होंने 23 जनवरी को अपने आप को देश का कार्यवाहक राष्ट्रपति घोषित किया था।
नेशनल असेंबली के प्रमुख गुएडो ने मादुरो के इस्तीफा और नए राष्ट्रपति चुनाव कराने की मांग को लेकर शनिवार को काराकास में सड़कों पर व्यापक जन प्रदर्शन का नेतृत्व किया था। मादुरो ने उनके पूर्ववर्ती हुगो शावेज के नेतृत्व वाले समाजवादी आंदोलन की 20वीं वर्षगांठ पर एक रैली में कहा कि वह संविधान सभा में एक प्रस्ताव लाने के पक्ष में हैं, जिसमें 2020 के अंत में होने वाले संसदीय चुनाव को समय पूर्व कराने की बात होगी।
छह महीनों में पहली बार सार्वजनिक रूप से सामने आए मादुरो ने कहा, ‘‘मैं राजी हूं और मैं इस फैसले पर कायम रहूंगा। वे (विपक्ष) जल्दी चुनाव कराना चाहते हैं, तो चलिए चुनाव कराते हैं।'' चार प्रमुख यूरोपीय देशों ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और स्पेन ने कहा कि अगर मादुरो ने रविवार आधी रात तक राष्ट्रपति चुनाव कराने की घोषणा नहीं की तो वह गुएडो को अंतरिम राष्ट्रपति के तौर पर मान्यता दे देंगे।
नेशनल असेंबली विपक्ष के नियंत्रण वाली सरकार की एकमात्र शाखा है। हालांकि, 2016 से उसके पास कोई शक्ति नहीं है। सरकार के वफादारों की बहुतायत वाले उच्चतम न्यायालय ने उसकी शक्तियां छीन ली थीं। गौरलतब है कि मादुरो ने संसद के स्थान पर 2017 में संविधान सभा बनाई थी। संसद ने अपने आप को देश का सर्वेसर्वा घोषित किया था। जब नए संसदीय चुनाव होंगे तो विपक्ष अपना बहुमत खो सकता है।
अंतरराष्ट्रीय समर्थन बढ़ने के साथ ही गुएडो सत्ता छोड़ने के लिए मादुरो पर दबाव बढ़ा रहे हैं। इस बीच, व्हाइट हाउस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने वेनेजुएला की सेना से उस जनरल के निर्देशों का पालन करने के लिए कहा है जो राष्ट्रपति मादुरो के खिलाफ विपक्ष के नेता गुएडो के समर्थन में हैं।
अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने शनिवार को ट्वीट किया कि अमेरिका सेना के सभी सदस्यों से जनरल यानेज के निर्देशों का पालन करने और लोकतंत्र का समर्थन कर रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों की रक्षा करने का आह्वान करते हैं।
वह मेजर जनरल फ्रांसिस्को यानेज का जिक्र कर रहे थे जिन्होंने मादुरो की ‘‘तानाशाही'' को खारिज करते और गुएडो को कार्यवाहक राष्ट्रपति के रूप में मान्यता देते हुए एक वीडियो पोस्ट किया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top