Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

4 छात्रों ने बंदरिया के साथ किया दुर्व्यहार, FIR दर्ज

उसके शव को कॉलेज कैंपस में ही दफना दिया गया

4 छात्रों ने बंदरिया के साथ किया दुर्व्यहार, FIR दर्ज
वेल्लोर. इंसानों लगातार मानवता खत्म होती नजर आ रही है। लोग जानवारों के साथ इतना बेरहमी से पेश आ रहे हैं जिसे देखकर किसी का दिल भी रो पड़े। वेल्लोर के क्रिश्चन मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने मानवीय हरकत की हद पार करते हुए एक घटना को अंजाम दिया है। इस मेडिकल कॉलेज के 4 छात्रों ने पहले तो बंदरिया के हाथ-पैर बांधकर उसे जमकर टॉर्चर किया और जब उसकी मौत हो गई तो उसे कॉलेज परिसर में ही दफना दिया।
कॉलेज प्रशासन ने चारों आरोपी छात्रों को सस्पेंड कर दिया है। उनके खिलाफ एफआइआर भी दर्ज की गई और उनसे पूछताछ की जा रही है। सूत्रों के मुताबिक यह मामला तब सामने आया जब उसी कॉलेज के कुछ छात्रों ने मुंबई के एक ऐनिमल ऐक्टिविस्ट को सूचना दी कि उनके कॉलेज में किस तरह एक बंदरिया को टॉर्चर कर मौत के घाट उतार दिया गया। मुंबई के उस ऐक्टिविस्ट ने चेन्नै में अपने सहयोगी को इस घटना के बारे में सोमवार को सूचना दी।
ऐनिमल राइट्स ऐक्टिविस्ट श्रवण कृष्णन ने सोमवार को शिकायत दर्ज करवायी थी, जिसके बाद बगयाम पुलिस ने आइपीसी की धारा 429 (जानवरों को नुकसान पहुंचाना) के तहत एफआइआर दर्ज की। बताया जा रहा है कि यह घटना शनिवार को हुई जब यह बंदरिया रास्ता भटकर मेडिकल कॉलेज के एक हॉस्टल रूम में घुस गई थी।
चारों आरोपी छात्रों ने कंबल की मदद से बंदरिया को पकड़ा और उसे हॉस्टल की छत पर ले गए। वहां उसे बांधकर उसे जमकर टॉर्चर किया गया। वन्यजीव संरक्षक निशांत रवि ने बताया, 'उन लोगों ने बंदरिया को बांधकर उसकी जमकर पिटाई की और उसके गुदा में रॉड घुसा दिया जिसकी वजह से बंदरिया का पाचन तंत्र पूरी तरह से बर्बाद हो गया। साथ ही उसकी एक आंख भी निकाल दी गई। बाद में उसके शव को कॉलेज कैंपस में ही दफना दिया गया।'
बंदरिया के शव को हॉस्टल की कैंटीन के पीछे से बरामद किया गया। बताया जा रहा है कि वह बंदरिया 12 महीने की थी और उसके शरीर पर चोट के कई निशान थे। उसके हाथ पीछे बंधे हुए थे और उसके गले में टेलिफोन की तार बंधी हुई थी। बताया जा रहा है कि कॉलेज प्रशासन को जैसे ही इस घटना के बारे में पता चला उन्होंने चारों आरोपी छात्रों को सस्पेंड कर दिया। आरोपी छात्रों से पूछताछ भी की जा रही है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top