Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बंसत पंचमी की देश भर में धूम, हर्षोल्लास से बनाया जा रहा है त्योहार

देश भर में आज शनिवार के दिन बनाया जा रहा है बंसत पंचमी का त्योहार।

बंसत पंचमी की देश भर में धूम, हर्षोल्लास से बनाया जा रहा है त्योहार
नई दिल्ली. देश भर में आज शनिवार के दिन बंसत पंचमी का त्योहार बनाया जा रहा है। हरिभूमि के सभी पाठकों को बंसत पंचमी की शुभकामनाएं। वसंत पंचमी एक श्रीपंचमी हिन्दू त्योहार माना जाता है। खास बात यह है की इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। यह पूजा मुख्य रुप से पूर्वी भारत, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल और कई राष्ट्रों में बड़े उल्लास से मनायी जाती है। इस दिन स्त्रियाँ पीले वस्त्र धारण करती हैं।
आपको बता दें की प्राचीन भारत और नेपाल में पूरे साल को जिन छह मौसमों में बांटा जाता था उनमें वसंत का मौसम लोगों का सबसे मनचाहा मौसम था। लेकिन जब फूलों पर बहार आ जाती थी और खेतों मे सरसों का सोना चमकने लगता था साथ ही साथ जौ और गेहूं की बालियाँ भी खिलने लगतीं थी उस समय आमों के पेड़ों पर बौर आ जाता थे। हर तरफ रंग-बिरंगी तितलियां मंडराने लगती है। यह जान कर आप का दिल गदगद होने लगेगा की वसंत ऋतु का स्वागत करने के लिए माघ महीने के पांचवे दिन एक बड़ा जश्न मनाया जाता है। जिसमें मुख्य रुप से विष्णु और कामदेव की पूजा होती है। इसी दिन को बंसत पंचमी के त्योहार के रुप में बनाया जाता है।
शास्त्रों में ऋषि पंचमी से बताया गया है साथ ही साथ पुराणों-शास्त्रों तथा अनेक काव्यग्रंथों में भी अलग-अलग ढंग से इसका विवरण किया गया है। बंसत पंचमी के संदर्भ में कहानी भी है जिसमें सृष्टि के प्रारंभिक काल में भगवान विष्णु की आज्ञा से ब्रह्मा ने जीवों खासतौर पर मनुष्य योनि की रचना की। उन्हें लगता था कि कुछ कमी रह गई है जिसके कारण चारों ओर मौन छाया रहता है। विष्णु से अनुमति लेकर ब्रह्मा ने अपने कमण्डल से जल छिड़का, पृथ्वी पर जलकण बिखरते ही उसमें कंपन होने लगा। इसी क्रम में कहानी आगे बढ़ती है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, क्या हैं आगे कहानी में-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top