Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मोदी की ट्रंप को सलाह का असर, 1000 और सैनिक अफगानिस्तान भेजेगा अमेरिका

अमेरिका जल्द ही 1,000 और सैनिकों को अफगानिस्तान भेजने की योजना बना रहा है।

मोदी की ट्रंप को सलाह का असर, 1000  और सैनिक अफगानिस्तान भेजेगा अमेरिका

अमेरिका जल्द ही 1,000 और सैनिकों को अफगानिस्तान भेजने की योजना बना रहा है। अमेरिकी सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक अफगानिस्तान में पहले से ही 14 हजार सैनिक मौजूद हैं, अब एक हजार और सैनिकों को भेजने की तैयारी है। खास बात यह है कि अमेरिका के इस फैसले के पीछे 'मोदी कनेक्शन' भी सामने आया है।

दरअसल, पीएम मोदी ने पिछले साल अफगानिस्तान में अमेरिका के योगदान की सराहना की थी। उन्होंने कहा था, दुनिया के किसी भी देश ने बिना किसी फायदे के अफगानिस्तान में इतना योगदान नहीं दिया है जितना अमेरिका ने किया है।

ये भी पढ़ें- दुनिया में पीएम मोदी का डंका, लोकप्रियता में ट्रंप और जिनपिंग भी पीछे

वॉशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी के इस बयान को गंभीरता से लिया। उनके लिए मोदी का बयान एक तरह से साक्ष्य के तौर पर था कि बाकी दुनिया अमेरिका को किस तरह से देखती है।

ट्रंप मोदी के बोलने की शैली से प्रभावित

अमेरिकी अधिकारियों ने बताया है कि ट्रंप भारतीय प्रधानमंत्री और उनके बोलने की शैली से इस कदर प्रभावित हैं कि जब वह मोदी के बयान के बारे में बता रहे थे तो उनका अंदाज बिल्कुल पीएम मोदी की तरह था।

हालांकि पेंटागन के अधिकारियों पर सैनिकों की बढ़ती संख्या को रोकने का भी दबाव है पर शायद पीएम मोदी के बयान के कारण अमेरिका यह कदम उठा रहा है। इसके तहत अमेरिकी निवेश भी बढ़ेगा।

एक अधिकारी ने बताया कि अतिरिक्त अमेरिकी सैनिकों या सलाहकारों की मदद से आने वाले दो वर्षों में 80 प्रतिशत देश के इलाके पर अफगान सेना और पुलिसबलों का नियंत्रण होगा।

अातंकियों से निपटने अमेरिकी की नई रणनीति

हालांकि अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने अतिरिक्त सैनिकों को अफगानिस्तान भेजने के इस प्रस्ताव पर अभी हस्ताक्षर नहीं किया है। यह प्रस्ताव अफगान फोर्सेज को मजबूत करने के व्यापक प्रस्ताव का हिस्सा है, जिससे आनेवाले समय में तालिबान को शिकस्त दी जा सके।

ये भी पढ़ें- चीन शक्तिशाली देश है लेकिन भारत कमजोर राष्ट्र नहीं- सेना प्रमुख

दरअसल, अफगानिस्तान में आतंकियों से निपटने के लिए अमेरिका ने नई रणनीति पर काम करना शुरू किया है। इसके तहत अमेरिकी फौज नई कॉम्बैट अडवाइजरी टीम्स की तैनाती करने जा रही है। इन्हें अफगानिस्तान में उन इलाकों में भेजा जाएगा, जहां हमले ज्यादा होते हैं और जहां पहुंचना मुश्किल होता है।

Next Story
Top