Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाक में रह रहे अमेरिकी राजदूत ने छोड़ा देश, यूएन से आई चेतावनी, जानें पूरा मामला

पाकिस्तान में पिछले महीने अपनी कार से एक बाइक सवार को टक्कर मारकर उसकी जान लेने के आरोपी एक अमिरकी राजनयिक ने देश छोड़ दिया है। उन्हें अभियोजन से मिली छूट पर विवाद है।

पाक में रह रहे अमेरिकी राजदूत ने छोड़ा देश, यूएन से आई चेतावनी, जानें पूरा मामला

पाकिस्तान में पिछले महीने अपनी कार से एक बाइक सवार को टक्कर मारकर उसकी जान लेने के आरोपी एक अमिरकी राजनयिक ने देश छोड़ दिया है। उन्हें अभियोजन से मिली छूट पर विवाद है।

अमेरिका के दूतावास में रक्षा मामले देखने वाले कर्नल जोसेफ इमैनुएल हॉल ने सात अप्रैल को इस्लामाबाद में यातायात सिग्नल को तोड़ दिया था और एक बाइक को टक्कर मार दी थी। बाइक पर दो लोग सवार थे जिसमें से एक की मौत हो गई थी। उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था, लेकिन उन्हे राजनयिक छूट की वजह से कभी भी गिरफ्तार नहीं किया गया।

ये भी पढ़े: मुंबई हमले पर नवाज शरीफ का बयान भ्रामक और निंदनीय, पाकिस्तान के पीएम ने दी सफाई

‘डॉन न्यूज' ने राजनयिक सूत्रों के हवाले से कहा कि अमेरिकी सरकार ने पाकिस्तान को आश्वस्त किया है कि कर्नल हॉल के खिलाफ अमेरिकी कानून के तहत मुकदमा चलाया जाएगा जिसके बाद उन्हें देश से जाने देने का फैसला किया गया। इसके बाद राजनयिक एक विशेष उड़ान से अफगानिस्तान रवाना हो गए।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस्लामाबाद में स्थित अमेरिकी दूतावास ने भी पुष्ट की है कि हॉल पाकिस्तान से जा चुके हैं। राजनयिक सूत्रों ने पुष्टि की कि कर्नल हॉल अमेरिकी राजनयिक थे और 1972 के विएना कवेंशन और पाकिस्तान राजनयिकों को जो विशेषाधिकार देता है उसके मुताबिक उन्हें पूरी तरह से छूट प्राप्त है।

दुर्घटना में मारे गए व्यक्ति के रिश्तेदारों ने सरकार से कर्नल हॉल के खिलाफ हत्या का मुकदमा चलाने की मांग की थी। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को व्यवस्था दी थी कि अमेरिकी राजनयिक को पूर्ण छूट हासिल नहीं है। इसने यह भी आदेश दिया था कि सरकार उनका नाम उस सूची में शामिल करे जो पाकिस्तान छोड़ने पर रोक लगाती है।

वाशिंगटन ने राजनयिक की छूट वापस लेने से इनकार किया , लेकिन वायदा किया कि राजनयिक कानूनों के तहत उसे जवाबदेह ठहराया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, आश्वासन के बाद हॉल को कल पाकिस्तान से जाने की इजाजत दे दी गई और वह अफगानिस्तान गए और वहां से अमेरिका जाएंगे। (भाषा)

Next Story
Top