Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अमेरिका: टाटा ग्रुप पर सॉफ्टवेयर चुराने का आरोप, 6 हजार करोड़ का लगा जुर्माना

टाटा कंपनी पर एपिक सिस्टम्स के सॉफ्टवेयर को चुराने के आरोप में यह जुर्माना लगाया गया है।

अमेरिका: टाटा ग्रुप पर सॉफ्टवेयर चुराने का आरोप, 6 हजार करोड़ का लगा जुर्माना
X
वॉशिंगटन. व्यापार गोपनीयता से जुड़े एक मामले में टाटा समूह की दो कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज और टाटा अमेरिका इंटरनेशनल कॉर्प पर अमेरिका की एक अदालत ने 94 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया है। अमेरिकी राज्य विस्कॉन्सिन में एक अदालत (फेडरल ग्रांड ज्यूरी) ने व्यवस्था दी कि इन दोनों कंपनियों को एपिक सिस्टम्स का सॉफ्टवेयर चोरी करने के लिए कम से कम 24 करोड़ डॉलर देने चाहिए। इसके अलावा टाटा को 70 करोड़ डॉलर दंडात्मक हर्जाने के तौर पर देने होंगे।
एपिक सिस्टम्स ने टाटा की दोनों कंपनियों के खिलाफ अक्टूबर 2014 में अमेरिका के मेडिसन में एक जिला अदालत में मुकदमा दायर किया था। एपिक ने इन कंपनियों पर ‘गोपनीय सूचना, दस्तावेज और डाटा चुराने के लिए व्यापार गोपनीयता के उल्लंघन का मामला दायर किया था।’
कंपनियों पर आरोप
एपिक सिस्टम्स ने कोर्ट में टीसीएस और टीएआइसी के खिलाफ अक्टूबर, 2014 में मुकदमा दायर किया था। इसमें आरोप लगाया कि दोनों ने एपिक से जुडे़ व्यापार रहस्य, गोपनीय सूचनाएं, दस्तावेज और आंकड़े चुराए। टीसीएस ने उसके ग्राहक को सलाह देते समय ये डाटा चुरा लिए।एपिक के मुताबिक टीसीएस के एक कर्मचारी के अकाउंट में 6,477 दस्तावेज डाउनलोड किए गए। इस अकाउंट का भारत और अमेरिका में कई जगहों पर उपयोग किया गया।
आदेश के खिलाफ अपील करेगी टीसीएस
टीसीएस ने इस बारे में एक बयान जारी कर कहा है कि कंपनी ने किसी भी तरह से बौद्धिक संपदा अधिकारों का उल्लंघन नहीं किया और न ही सॉफ्टवेयर की चोरी जैसा कोई कदम उठाया। एपिक जिन 6,477 दस्तावेजों को डाउनलोड करने की बात बता रही है, उनका भी दुरुपयोग नहीं किया गया है। देनदारी और हर्जाने का फैसला अप्रत्याशित है। अदालत में पेश साक्ष्य इसका समर्थन नहीं करते। टीसीएस इस फैसले के खिलाफ ऊपरी अदालत में अपील करेगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top