Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सामने आया पाक का झूठ, लश्कर ने ली उरी हमले की जिम्मेदारी

उरी में सेना के 12वीं ब्रिगेड पर हुए इस आतंकी हमले में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए थे

सामने आया पाक का झूठ, लश्कर ने ली उरी हमले की जिम्मेदारी
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में हुए हमले में पाकिस्तानी आंतकी संगठन का हाथ होने के पुख्ता सबूत सामने आए हैं। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुजरांवाला में एक पोस्टर ने पाकिस्तान की आंतकी गतिविधियों की पोल खोल दी है। आंतकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने पोस्टर में साफ तौर पर उरी आंतकी हमले की जिम्मेदारी ली है।
उरी में सेना के 12वीं ब्रिगेड पर हुए इस आतंकी हमले में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए थे। पीएम शरीफ की पोल खोलने वाले इन पोस्टरों को पाक के गुजरांवाला में लगाया गया है, जिसमें घोषणा की गई है कि लश्कर-ए-तैयबा उरी हमले में मारे गए 4 आतंकियों में से एक की अंतिम यात्रा निकालेगा। हालांकि आंतकी के शव के बिना यह यात्रा निकाली जाएगी। पोस्टर में उरी हमलों के साजिशकर्ता आतंकी मोहम्मद अनस के बारे में लिखा गया है अबु सिरका आतंकी साजिश में शामिल था।
जैश को बताया था जिम्मेदार
भारत शुरूआत से कहता हुआ आया है कि इस हमले के पीछे पाकिस्तान का हाथ है लेकिन पाकिस्तान लगातार इस हमले में अपनी भूमिका से इनकार करता रहा है। हालांकि भारतीय अधिकारियों ने हमले के लिए जैश-ए-मोहम्मद को जिम्मेदार बताया था।
आतंकी को बताया शेर दिल
पोस्टर में अनस को लश्कर-ए-तैयबा का शेर दिल पवित्र योद्धा बताया गया है, जिसने 177 हिंदू सैनिकों को नर्क में भेजा। लश्कर एक तैयबा के मूल संगठन जमात उद दावा के मुखिया हाफिज मोहम्मद सईद का फोटो भी पोस्टर पर लगी है। इस पोस्टर में लिखा है कि शव की अनुस्थिति में नमाज जनाजा (अंतिम संस्कार) पंजाब के गुजरांवाला के बड़ा नुल्लाह में होगा।
जान बचाने के लिए छत से कूदे कैडेट्स
पाक बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा के एक पुलिस ट्रेनिंग केंद्र पर भारी हथियारों से लैस इस्लामिक स्टेट के आतंकियों सुबह पांच बजे हमला बोला। हताहतों में अधिकतर15 से 25 साल हैं। यह पाकिस्तान में हुए घातक आतंकवादी हमलों में से एक है। केंद्र पर जब हमला हुआ तब यहां करीब 700 कैडेट जो सो रहे थे। हमले को 3 बंदूक धारियों ने टावर के गार्डको गोली मारी, फिर वे अंदर दाखिल हुए। इस दौरान कई कैडेट बचने के लिए छत से कूद गए।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Share it
Top