Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गंगा में भी बहाए जा रहे हैं 1000, 500 के नोट

मिर्जापुर के कोतवाली क्षेत्र के नारघाट स्थित गंगा में लाखों रुपये तैरते दिखाई दिए हैं।

गंगा में भी बहाए जा रहे हैं 1000, 500 के नोट
लखनऊ. केंद्र सरकार द्वारा बड़े नोटों को बंद करने के बाद पूरे देश में उथल-पुथल का माहौल है। वहीं काला धन रखने वाले लोग अब अपने पास मौजूद पैसों को किसी भी तरह से क़ानूनी बनाने में लगे हुए हैं।
500 और 1 हजार के नोटों बंद करने के बाद लोग अब उनसे किसी भी तरह पीछा छुड़ा रहे हैं। जगह-जगह शहरों में एटीएम के सामने लोगों की लंबी कतारें देखने को मिल रही हैं। वहीं कई जगह नोटों को जलाने और बहाने की खबरें भी सामने आई हैं। तो शादियों में नोटों की बारिश तो आपने देखी होगी, लेकिन नोटों को नदिया की धारा में बहते हुए अपने नहीं देखा होगा। नदी में नोटों को बहते हुए देखने का नजारा शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में देखने को मिला है।
Ndtv की रिपोर्ट के अनुसार, मिर्जापुर के कोतवाली क्षेत्र के नारघाट स्थित गंगा में लाखों रुपये तैरते दिखाई दिए हैं। यह नोट 500 और 1000 के थे, जिन पर सरकार पाबंदी लगा चुकी है। मिर्जापुर में यह खबर फैलते ही इसे देखने के लिए किनारे पर लोगों की भीड़ लग गई, कुछ लोग नदी में कूदे भी, लेकिन निराशा ही हाथ लगी, क्योंकि नदी में नोट फाड़कर फेंके गए थे। इससे पहले बरेली में नोट जलाने की खबरें आई थीं।
गुरुवार को भी एक ऐसे ही मामले में पुणे में नगर निगम की एक कूड़ा उठाने वाली महिला को एक हजार के 52 नोट सड़क किनारे एक प्‍लास्टिक की थैली में मिले। उसने उनके बारे में तत्‍काल अपने सुपरवाइजर को बताया। बाद में पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। पुलिस नोटों की असलियत और इसके मालिक का पता लगाने की कोशिश कर रही है।
इससे पूर्व आज यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने देश के प्रधानमंत्री से कहा कि, नॉट बंद करने से लोगों काफी दिक्कत हो रही है इसलिए 30 नवंबर तक पुराने नोट चलने दें। इस चिट्ठी में उन्होंने कहा है कि अब भी बहुत बड़ी आबादी बीमारियों के इलाज के लिए निजी अस्पतालों पर निर्भर है। ऐसे में 8 नवंबर को अचानक 500 और 1000 के नोटों का चलन बंद किए जाने से खासकर निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में भर्ती मरीजों और उनके तीमारदारों को भारी दिक्कतें हो रही हैं। कई मरीजों के लिए यह स्थिति जानलेवा भी हो रही है।
इससे पहले मुलायम सिंह यादव नोटबंदी के इस फैसले को टालने की बात कह चुके हैं। बसपा सुप्रीमो मायावाती ने भी सरकार के कदम को आर्थिक आपातकाल करार दिया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top