logo
Breaking

बजट 2018-19: जेटली पढ़ रहे थे बजट भाषण, देखिये विपक्ष क्या कर रहा था सदन में

वित्त वर्ष 2018-19 के बजट को गरीब और आम लोगों को समर्पित बताते हुए वित्त मंत्री अरूण जेटली ने गुरुवार को अपना बजट भाषण करीब एक घंटे 50 मिनट में पूरा किया।

बजट 2018-19: जेटली पढ़ रहे थे बजट भाषण, देखिये विपक्ष क्या कर रहा था सदन में

वित्त वर्ष 2018-19 के बजट को गरीब और आम लोगों को समर्पित बताते हुए वित्त मंत्री अरूण जेटली ने गुरुवार को अपना बजट भाषण करीब एक घंटे 50 मिनट में पूरा किया। बजट भाषण समाप्त होने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें उनके पास जाकर बधाई दी। जेटली को मंत्रिमंडल के सहयोगियों सुषमा स्वराज, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी आदि ने भी बधाई दी। बीजद से निलंबित सांसद बैजयंत पांडा को भी जेटली के पास आकर बधाई देते देखा गया।

यह भी पढ़ें- राजस्थान उपचुनाव: कांग्रेस में खुशी की लहार, मांडलगढ़ में जीत दर्ज की

पांडा ने प्रधानमंत्री से भी कुछ बात की। कांग्रेस सदस्य कमलनाथ को भी जेटली से बात करते देखा गया। भाजपा के साथ रिश्तों में तल्खी के दौर से गुजर रही शिवसेना के सदस्य चंद्रकांत खैरे ने भी जेटली के पास जाकर उन्हें बधाई दी। बजट पेश किए जाने के दौरान प्रधानमंत्री मोदी को कई बार मेज थपथपाकर स्वागत करते देखा गया। भाजपा एवं राजग सदस्यों को भी इसका अनुकरण करते देखा गया। मोदी ने बजट भाषण के दौरान बार-बार मेज थपथपाया और वित्त मंत्री को प्रोत्साहित किया।

जेटली ने प्रारंभ में करीब 20 मिनट खड़े होकर भाषण पढ़ा और इसके बाद उन्होंने बैठकर भाषण पढ़ा। अंत में उन्होंने एक बार फिर खड़े होकर बजट भाषण पूरा किया। जब वित्त मंत्री अरूण जेटली ने गरीब महिलाओं को रसोई गैस उपलब्ध कराने से जुड़ी उज्ज्वला योजना का जिक्र किया तब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेज थपथपाकर जोरदार ढंग से इसका स्वागत किया।

यह भी पढ़ें- अरुण जेटली पकौड़ा उद्योग के लिए बजट लाने में जुटे हैं, उधर अजमेर-अलवर में BJP की लुटिया डूब रही है: राहुल गांधी

जेटली ने जब राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के दायरे में 10 करोड़ गरीब एवं वंचित वर्ग के लोगों को लाने का जिक्र किया तब प्रधानमंत्री समेत समूचे सत्ता पक्ष ने इसका जोरदार स्वागत किया। बजट भाषण के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को बगल में बैठे ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमल नाथ से कई बार बातें करते देखा गया। राहुल सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद आए थे।

बजट भाषण के दौरान कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे, पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा, सपा नेता मुलायम सिंह यादव आदि मौजूद थे। अरूण जेटली आज कुर्ता पायजामा और नेहरू जैकेट पहले हुए थे। बजट भाषण के दौरान स्पीकर दीर्घा में जेटली की पत्नी संगीता और पुत्र रोहन मौजूद थे।

यह भी पढ़ें- बजट 2018: देश में साल 2018-19 में खर्च होंगे 24.42 लाख करोड़ रुपये!

दीर्घा में राज्यसभा के कई सदस्य भी मौजूद थे जिनमें राजीव चंद्रशेखर, माजिद मेमन, नरेश गुजराल, स्वप्न दासगुप्ता, डी राजा, विनय सहस्त्रबुद्धे, पी नाथवानी आदि शामिल हैं । सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने जेटली को बधाई दी।

बजट भाषण के दौरान सत्ता पक्ष की सीटें लगभग भरी हुई थीं हालांकि विपक्ष की कुछ सीटें खाली थीं। बजट भाषण में कई योजनाओं के 2022 में पूरा होने का उल्लेख किए जाने पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को आपत्ति व्यक्त करते देखा गया। खड़गे कह रहे थे कि आप 2018 का बजट पेश कर रहे हैं कि चार वर्ष बाद का। जेटली ने हालांकि इसे नजरंदाज कर अपना बजट भाषण जारी रखा।

जब जेटली लघु, सूक्ष्म, मध्यम उद्यम को राहत की घोषणा कर रहे थे तब विपक्ष के कुछ सदस्य कुछ कहना चाह रहे थे। इस पर जेटली ने कहा कि अध्यक्ष जी, क्या इन्हें एमएसएमई सेक्टर को छूट पर आपत्ति है? बजट भाषण के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा भी सदन में मौजूद थे। वह मोदी सरकार के मुखर आलोचक रहे हैं।

Loading...
Share it
Top