logo
Breaking

बजट 2018: जेटली की पोटली से निकला मोदी सरकार का 5वां बजट, जानिए क्या-क्या हुआ महंगा

जेटली ने 8 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रख कर गरीबों-किसानों के लिए बड़ा ऐलान किया है।

बजट 2018: जेटली की पोटली से निकला मोदी सरकार का 5वां बजट, जानिए क्या-क्या हुआ महंगा

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज मोदी सरकार का 5वां आखिरी पूर्ण बजट पेश किया। जेटली ने 8 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रख कर गरीबों-किसानों के लिए बड़ा ऐलान किया है।

10 करोड़ परिवारों के लिए हेल्थ प्रोटेक्शन मिलेगा, जिसके तहत हर परिवार को हर साल 5 लाख रुपए दिए जाएंगे। मोदी सरकार ने 2022 तक सरकार ने देश के हर गरीब को घर देने का टारगेट रखा है। सरकार ने 8 करोड़ गरीब महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन देने की बात कही है।

इसे भी पढ़ेंः मोदी के बजट पर एच डी देवेगौड़ा ने कसा तंज, कहा- समस्याएं बड़ी उपाय कम

सरकार ने स्थानीय विनिर्माण को प्रोत्साहन देने के लिए आयातित टीवी पैनलों पर आयात शुल्क 7.5 प्रतिशत से दोगुना कर 15 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया है। इससे एलसीडी-एलईडी टीवी सेट महंगे हो जाएंगे। इसके अलावा मोबाइल फोन पर भी सीमा शुल्क 15 से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया गया है।

टीवी के कलपुर्जों पर बढ़ा सीमा शुल्क

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज अपने बजट भाषण में कहा कि एलसीडी-एलईडी-ओएलईडी टीवी के कलपुर्जों पर सीमा शुल्क को बढ़ाकर 15 प्रतिशत किया जा रहा है। इसका मकसद स्थानीय विनिर्माण को प्रोत्साहन देना है।

मोबाइल फोन पर बढ़ा सीमा शुल्क

जेटली ने कहा कि मैं मोबाइल फोन पर सीमा शुल्क को 15 से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का प्रस्ताव करता हूं। इसके अलावा मोबाइल फोन के कुछ कलपुर्जों और एक्सेसरीज तथा टीवी के कुछ कलपुर्जों पर सीमा शुल्क बढ़ाकर 15 प्रतिशत करने का प्रस्ताव करता हूं।

बढ़ेंगे रोजगार के अवसर

उन्होंने कहा कि कुछ क्षेत्रों मसलन खाद्य प्रसंस्करण, इलेक्ट्रानिक्स, वाहन कलपुर्जे, फुटवियर तथा फर्नीचर जैसे क्षेत्रों में घरेलू स्तर पर मूल्यवर्धन की काफी गुंजाइश है। जेटली ने कहा कि इन उपायों से देश में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

Loading...
Share it
Top