Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कांग्रेस के दो विधायकों ने गुजरात विधानसभा से दिया इस्तीफा, भाजपा का दामन थामा

आम चुनाव के मद्देनजर गुजरात में कांग्रेस को झटका देते हुए पार्टी के दो नेताओं ने शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया। एक विधायक दिन में सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गए और दूसरे ने जल्द ही भगवा पार्टी में शामिल होने के फैसले की घोषणा की।

कांग्रेस के दो विधायकों ने गुजरात विधानसभा से दिया इस्तीफा, भाजपा का दामन थामा

आम चुनाव के मद्देनजर गुजरात में कांग्रेस को झटका देते हुए पार्टी के दो नेताओं ने शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया। एक विधायक दिन में सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गए और दूसरे ने जल्द ही भगवा पार्टी में शामिल होने के फैसले की घोषणा की।

माणावदर सीट से विधायक जवाहर चावड़ा ने दोपहर में गुजरात विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को अपना इस्तीफा सौंपा जबकि मोरबी जिले के ध्रांगधरा सीट से विधायक परषोत्तम सबारिया ने शाम में इस्तीफा दिया। चावड़ा गांधीनगर में पार्टी मुख्यालय में भाजपा में शामिल हो गए जबकि सबारिया ने घोषणा की कि वह जल्द ही सत्तारूढ़ पार्टी में शामिल होंगे।
त्रिवेदी ने कहा, ‘‘ध्रांगधरा सीट से कांग्रेस विधायक परषोत्तम सबारिया ने आज शाम अपना इस्तीफा दे दिया। मैंने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया। उन्होंने इस्तीफा पत्र में कोई खास वजह नहीं बताई। अब वह गुजरात विधानसभा के सदस्य नहीं रहेंगे।'
अपने फैसले पर टिप्पणी करते हुए सबारिया ने कहा कि वह अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि उन्हें भाजपा द्वारा गुजरात सरकार में कोई मंत्री पद की पेशकश नहीं की गई।
सबारिया के इस्तीफे से कुछ देर पहले चावड़ा भाजपा में शामिल हो गए। उन्होंने जूनागढ़ जिले में माणावदर सीट से विधायक के पद से इस्तीफा दे दिया था। भाजपा में शामिल होने के बाद चार बार के विधायक रहे चावड़ा ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व से किसी तरह की असहमति या मतभेद के चलते कांग्रेस नहीं छोड़ी है।
चावड़ा को अन्य पिछड़े वर्ग (ओबीसी) का प्रभावशाली नेता माना जाता है। वह अहीर समुदाय से आते हैं। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने दावा किया कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पाला बदलने के लिए मंत्री पद की कोई पेशकश नहीं दी है। चावड़ा ने माणावदर सीट पर 1990, 2007, 2012 और 2017 में जीत दर्ज की थी।
पिछले साल जुलाई में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक कुवंरजी बावलिया ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया था और वह भाजपा सरकार में कैबिनेट मंत्री बन गए थे। मेहसाणा की उन्झा सीट से पहली बार विधायक बनीं आशा पटेल भी पिछले महीने कांग्रेस और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गई थीं।
Next Story
Share it
Top