logo
Breaking

#VinodVerma : सोशल मीडिया पर पत्रकार को लेकर छिड़ी करारी भिड़ंत

पत्रकार विनोद वर्मा की जमानत याचिका खारिज होने के बाद सोशल साइट ट्विटर ट्वीट की झड़ी लगी।

#VinodVerma : सोशल मीडिया पर पत्रकार को लेकर छिड़ी करारी भिड़ंत

छत्तीसगढ़ सरकार के एक मंत्री की अश्लील सीडी मामले में रायपुर की एक स्थानीय कोर्ट ने पत्रकार विनोद वर्मा की जमानत याचिका खारिज कर दी है। इसके बाद सोमवार को एक बार फिर सोशल साइट ट्विटर पर ट्वीट के जरिए घमासान मचा हुआ है।

लोगों ने ट्वीट करके याचिका खारिज करने को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी। वहीं ट्वीटर पर एक यूजर ने ट्वीट कर लिखा है कि बीते 14 सालों से जिसने भी बोलना शुरू किया, उसकी आवाज को कुचल दिया गया. इस बार निशाने पर पत्रकार हैशटैग विनोद वर्मा हैं।

वहीं दूसरी यूजर ने लिखा कि डिटेक्टर का हाल बहुत बूरा होता है हमेशा याद रखना, पहले विनोद वर्मा और अब कार्टूनिस्ट। नोट- हिटलर और अन्य की मौत नरक में हुई।

तीसरे यूजर ने लिखा कि माओवादियों ने विनोद वर्मा की गिरफ्तारी को बताया आपातकाल। एक यूजर ने ट्वीट कर लिखा कि अगर किसी नेता की सेक्स क्लिप आपके पास होना गुनाह है, तो क्या अब मुझे भी गिरफ्तार किया जाएगा?

वहीं एक यूजर ने पीएम मोदी को पोस्टकार्ड भी लिखा है। ट्वीट कर लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम #VinodVerma का एक पोस्टकार्ड : कम लिखे को ज़्यादा समझना।

जानकारी के लिए बता दें कि पत्रकार विनोद वर्मा पर सेक्स सीडी के नाम पर ब्लैकमेलिंग और जबरन वसूली का आरोप है। उन्हें पिछले दिनों गाजियाबाद के इंदिरापुरम में उनके घर से हिरासत में लिया गया था। जिसके बाद गाजियाबाद कोर्ट द्वारा ट्रांजिट रिमांड देने के बाद वर्मा को रायपुर कोर्ट में पेश किया गया था।

Loading...
Share it
Top