logo
Breaking

सबरीमाला मंदिर विवाद: तृप्ति देसाई के खत का सीएम ने नहीं दिया जवाब, महिलाओं की एंट्री..

पिनाराई विजयन ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि 28 सितंबर का फैसला बरकरार रहेगा।

सबरीमाला मंदिर विवाद: तृप्ति देसाई के खत का सीएम ने नहीं दिया जवाब, महिलाओं की एंट्री..

केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर को लेकर केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने गुरुवार को बयान जारी किया है। पिनाराई विजयन ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि 28 सितंबर का फैसला बरकरार रहेगा।

इसका मतलब यह है कि सभी आयु वर्ग की महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में प्रवेश दिया जाना चाहिए। सरकार इस फैसले के खिलाफ कोई रुख नहीं अपना सकती है।उन्होंने आगे कहा कि हम भक्तों की भावनाओं का सम्मान करते हैं। हम कोर्ट के फैसले को लागू करने के लिए बाध्य हैं।

वहीं सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई 17 नवंबर को सबरीमाला मंदिर में दर्शन के लिए जाएंगी। उन्होंने केरल के सीएम पिनारायी विजयन से पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की थी।

तृप्ति देसाई ने कहा कि मुझे केरल सरकार से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। अगर कोई घटना होती है, तो इसकी जिम्मेदारी केरल के मुख्यमंत्री और डीजीपी पर होगी।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के सभी आयु वर्ग की महिलाओं को पूजा की अनुमति देने के आदेश के खिलाफ सबरीमला में श्रद्धालुओं का जबर्दस्त विरोध देखने को मिला है।

Loading...
Share it
Top