Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित कर सकते हैं ट्रंप: सलाहकार

अगर ऐसा होता है तो यह आतंकवाद के खिलाफ भारत के अभियान में एक बड़ी सफलता होगी।

पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित कर सकते हैं ट्रंप: सलाहकार
नई दिल्ली. अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित करने के कांग्रेस के बिल को मंजूरी दे सकते हैं। ऐसा कहना है ट्रंप के सलाहकार और भारतीय मूल के अमेरिकी कारोबारी शलभ कुमार का। अगर ऐसा होता है तो यह आतंकवाद के खिलाफ भारत के अभियान में एक बड़ी सफलता होगी।
ट्रंप की अडवाइजरी काउंसिल के मेंबर शलभ कुमार ने कहा, 'ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच निश्चित तौर पर अच्छे संबंध बनेंगे। ट्रंप के कार्यकाल के दौरान भारत-अमेरिकी रिश्‍ते नई ऊंचाई तक पहुंच सकते हैं। इस दिशा में एक बड़ा कदम पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित करने के कांग्रेस के बिल को मंजूरी देना होगा।' शलभ कुमार ने इससे पहले भी कहा था कि ट्रंप और मोदी काफी अच्‍छे दोस्‍त साबित होंगे।
बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर के उड़ी में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर दबाव बढ़ाते हुए कांग्रेस के दो सदस्यों ने उसे अमेरिका की ओर से आतंकवादी देश घोषित करने के लिए बिल पेश किया है। इसमें अमेरिकी एडमिनिस्ट्रेशन से मांग की गई है कि वह आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले एक देश के तौर पर पाकिस्तान के दर्जे पर रिपोर्ट उपलब्ध कराए।
कुमार ने कहा, 'ट्रंप के अमेरिका का 45वां राष्ट्रपति चुने जाने के कुछ ही घंटों के अंदर मोदी ने ब्लैक मनी पर शिकंजा कसने के लिए नोटबंदी का बड़ा कदम उठाया। इससे अच्छे संकेत मिल रहे हैं।' उन्होंने दोनों देशों के बीच संबंधों में और मजबूती आने की उम्मीद जताते हुए कहा कि ट्रंप की टीम भारत से जुड़े मामलों की अच्छी जानकारी रखती है। उन्होंने दावा किया कि भारत सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ट्रंप की टीम के संपर्क में हैं और इससे दोनों देशों के बीच संबंधों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।
उन्होंने ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद भारतीय आईटी प्रफेशनल्स की नौकरियां जाने की आशंका को गलत बताते हुए दावा किया कि ट्रंप की अगुवाई में अमेरिकी इकनॉमी चार-पांच पर्सेंट की रेट से बढ़ेगी और देश के सर्विस सेक्टर में मजबूती आएगी। इससे अमेरिका में भारतीय आईटी प्रफेशनल्स की डिमांड बढ़ेगी। कुमार ने कहा कि अगले चार वर्षों में दोनों देशों के बीच व्यापार में भी बढ़ोतरी होगी।
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने बताया कि ट्रंप के कार्यकाल के दौरान दोनों देशों के बीच डिफेंस पार्टनरशिप बढ़ने की उम्मीद है। इसके साथ ही उन्होंने सुझाव दिया कि भारत को टैक्स रिफॉर्म्स सहित ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में सुधार करना चाहिए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top