Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत-पाक के बीच फंसे कश्मीर मुद्दे पर नहीं बोलेंगे ट्रंप

ट्रंप भारत के साथ संबंधों को गहरा बनाने का संकेत दे रहे हैं।

भारत-पाक के बीच फंसे कश्मीर मुद्दे पर नहीं बोलेंगे ट्रंप
नई दिल्ली. पाकिस्तान हमेशा से कश्मीर मुद्दे को उछालने की कोशिश करता है।लेकिन इस बार पाकिस्तान अमरीका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति डोनॉल्‍ड ट्रंप के बयान का सहारा लेकर इस मामले को सुलझाने की कोशिश करने में लगा है। दो दिन पहले ही नवनिर्वाचित अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाक पीएम की तारीफ की थी। लेकिन अब ट्रंप ने भारत के साथ संबंधों को गहरा बनाने का संकेत दिया है।
जनसत्ता के मुताबिक, ‘द डेली सिग्नल’ में प्रकाशित एक ऑप-एड में द हेरिटेज फाउंडेशन की लीसा कुर्टिस ने लिखा है कि इस बात को लेकर बहुत अधिक शंका है कि ट्रंप प्रशासन भारत-पाक विवाद में खुद को शामिल करने पर विचार करेगा, खासकर ऐसे समय में जब ट्रंप ने इस बात के संकेत दिये हैं कि उनकी दिलचस्पी भारत के साथ संबंधों को गहरा बनाने को लेकर है। कुर्टिस ने ने कहा कि वास्तव में अमेरिका दोनों परमाणु संपन्न प्रतिद्वंद्वियों के बीच के तनाव को कम करने का प्रयास करके ज्यादा उपयोगी भूमिका निभा सकता है।
तो वही इसे पाकिस्तान पर भारत विरोधी आतंकियों को खत्म करने के लिए दबाव डालना चाहिए, जो पाकिस्तान के क्षेत्र में स्वतंत्रता के साथ अभियान चलाते हैं। अपने आलेख में कुर्टिस ने कहा कि अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ फोन पर हुई बातचीत को लेकर चिंता जतायी जा रही है और इसका अर्थ उपमहाद्वीप को लेकर उनकी नीतियों से लगाया जा सकता है।
हालांकि 2 दिन पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए पिछले माह हुए चुनाव में ट्रंप की जीत के बाद यह दोनों नेताओं के बीच पहली टेलीफोन वार्ता थी। प्रवक्ता ने बताया कि डोनाल्ड ट्रंप ने इससे पहले भारत के साथ कश्मीर मुद्दे के समाधान में भूमिका निभाने की इच्छा जताई थी। विदेश मंत्रालय ने बताया कि नवाज ने ट्रंप को पाकिस्तान की यात्रा करने का निमंत्रण भी दिया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top