Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

त्रिपुरा: TMC के 6 विधायक BJP में शामिल, कोविंद को दिया था वोट

जबकि ममता की पार्टी ने मीरा कुमार को वोट देने का फरमान जारी किया था।

त्रिपुरा: TMC के 6 विधायक BJP में शामिल, कोविंद को दिया था वोट

भारतीय जनता पार्टी ने पूर्वोत्तर के एक और राज्य में भगवा फहराया है। भाजपा ने बिना चुनाव के ही त्रिपुरा राज्य में मुख्य विपक्षी दल होने का तमगा पा लिया है। यहां टीएमसी से निकाले गए सभी 6 विधायक भाजपा में शामिल हो गए और इस तरह से भाजपा के पास जो एक भी विधायक नहीं थे, वो अब त्रिपुरा की मुख्य विपक्षी पार्टी हो गई है।

तीसरी और आखिरी पार्टी के तौर पर कांग्रेस के पास 4 विधायक हैं। टीएमसी ने इन 6 विधायकों को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते सस्पेंड कर दिया था। इनके नाम सुदीप रॉय बर्मन, आशीष कुमार साहा, दीबा चंद्र ह्रंगखावस, बिस्व बंधु सेन, प्रांजित सिंह रॉय और दिलीप सरकार है।

आपको जानकार आश्चर्य होगा कि साल 2013 में त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव हुए थे। यहां वामदलों ने 60 में से 50 सीटें जीटकर क्लीन स्वीप किया था। और कांग्रेस को 10 सीटें मिली थी, जबकि टीएमसी का खाता भी नहीं खुला था। पर साल 2016 के पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और वामदलों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा, जिसके खिलाफ इन 6 विधायकों ने पार्टी छोड़ दी थी और टीएमसी का दामन थाम लिया था।

इसे भी पढ़ें: गुजरात: कांग्रेस को झटका, BJP में शामिल हुए 3 MLA

पर टीएमसी ने इन सभी विधायकों को हाल ही में पार्टी से निकाल दिया था और ये सभी भाजपा में आ गए। मौजूदा समय में वामदलों के पास 50 विधायक, कांग्रेस के पास 4 विधायक और अब बीजेपी के पास 6 विधायक हो गए हैं। इस तरह से भाजपा दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।

विधायकों का पाला बदल दलबदल कानून में नहीं

एक निश्चित संख्या से अधिक विधायकों का पार्टी छोड़ना दलबदल कानून के तहत नहीं आता। अगर एक या दो विधायकों ने ऐसा किया होता तो उनकी विधानसभा सदस्यता भी चली जाती। पर कांग्रेस में रहते हुए उसके 60 फीसदी यानि 6 विधायकों ने विद्रोह किया था। इस तरह वो दलबदल कानून से बाहर रहे और टीएमसी से होते हुए भाजपा में आ मिले।

Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top