Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शीतकालीन सत्र: ''तीन तलाक'' पर 3 साल की सजा, सरकार आज लोकसभा में पेश करेगी बिल

तीन तलाक बिल को लेकर असदुद्दीन ओवैसी कानून मंत्रालय को खत लिखकर इस पर अपनी नाराजगी जता चुके हैं।

शीतकालीन सत्र:

केंद्र सरकार लोकसभा में जारी लगातार हंगामे के बीच शुक्रवार को तीन तलाक बिल पेश कर सकती है। भारतीय जनता पार्टी ने इसके लिए अपने सभी सांसदों को आज सदन में उपस्थित रहने को कहा हैं।

आज सदन में कुल तीन बिल पेश किए जा सकते है इनमे से तीन तालाक बिल सबसे अहम है। इसको लेकर संसद में हंगामा हो सकता है।

इसे भी पढ़ें- यहां पढ़ें तीन तलाक पर मोदी सरकार का पूरा कानूनी प्रावधान, इन 5 अहम बातों पर ज्यादा जोर

आपको बता दें कि तीन तलाक बिल को लेकर एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी पहले ही कानून मंत्रालय को खत लिखकर इस पर अपनी नाराजगी जता चुके हैं।

इससे पहले सरकार ने कहा है कि तीन तलाक विधेयक को लेकर मुस्लिम संगठनों से कोई विचार-विमर्श नहीं किया गया है। सरकार ने साफ किया है कि यह मुद्दा लैंगिक न्याय, लैंगिक समानता और महिलाओं की गरिमा से जुड़ा हुआ है, इसका आस्था और धर्म का कोई संबंध नहीं है।

Share it
Top