Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Triple Talaq Bill / राज्यसभा ने नहीं पेश हो सका तीन तलाक बिल, कल तक के लिए कार्यवाही स्थगित

तीन तलाक की प्रथा को अपराध की श्रेणी में लाने वाला तीन तलाक बिल आज राज्यसभा में पेश नहीं हो पाया है। कार्यवाही को 2 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

Triple Talaq Bill  / राज्यसभा ने नहीं पेश हो सका तीन तलाक बिल, कल तक के लिए कार्यवाही स्थगित
तीन तलाक (Tripl Talaq) की प्रथा को अपराध की श्रेणी में लाने वाला तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill) आज राज्यसभा (Rajya Sabha) में पेश नहीं हो सका है। दो दिन पहले ही लोकसभा (Lok Sabha) से इस बिल को पास कर दिया गया था। केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को यह बिल पेश करना था लेकिन हंगामे के दौरान उपसभापति ने कार्यवाही को एक दिन के लिए स्थगित कर दिया है।

लाइव अपडेट -

राज्यसभा में तीन तलाक बिल को लेकर हुए हंगामे के बीच कार्यवाही एक दिन के लिए स्थगित कर दी गई है।

15 मिनट के लिए राज्यसभा की कार्रवाई स्थगित

राज्यसभा में भाजपा सांसद विजय गोयल ने कहा कि ये बिल पास जरूर होना चाहिए

थोड़ी देर में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद पेश करेंगे तीन तलाक बिल

2 बजे शुरू हुई राज्यसभा की कार्रवाई

तीन तलाक बिल पर चर्चा के लिए राज्यसभा पहुंचे राहुल गांधी, बोले- पार्टी ने पहले ही स्टैंड क्लीयर कर दिया है

तीन तलाक बिल का बीजेडी सांसद प्रसंन आचार्य ने दिया समर्थन, बोले- ये पास होना चाहिए

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती बोली- तीन तलाक कानून के जरिए हमारे घरों में घुसना चाहती हैं बीजेपी

सीपीआई नेता डी राजा ने भी की मांग, तीन तलाक बिल सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए

एआईएडीएमके की मांग, बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए

विपक्ष के हंगामे के बाद राज्यसभा 2 बजे तक के लिए स्थगित

तीन तलाक बिल पेश करने से पहले पीएम मोदी की अध्यक्षता में बैठक जारी, बैठक में अमित शाह, अरुण जेटली और राजनाथ सिंह मौजूद

तीन तलाक बिल पर गुलाम नबी आजाद के चैंबर में विपक्षी दलों की बैठक शुरू

तीन तलाक बिल पर चंद्रबाबू ने की सांसदों से अपील, पास न होने दें

तीन तलाक बिल पर आम आदमी पार्टी कर रही विरोध

तीन तलाक बिल राज्यसभा में चर्चा से पहले कांग्रेस और टीडीपी समेत कई पार्टियों ने व्हिप जारी किया

टीएमसी ने तीन तलाक बिल को राज्यसभा की सेलेक्ट कमेटी में भेजे जाने का प्रस्ताव पेश किया है
कांग्रेस और भाजपा ने सांसदों को सदन में रहने के लिए व्हिप जारी किया
आज राज्यसभा में पेश होगा तीन तलाक बिल

राज्यसभा में सरकार की संख्या-

लोकसभा के मुकाबले राज्यसभा में सरकार की स्थिति थोड़ी कमजोर है। यहां बीजेपी के घटक दल एनडीएस के पास 93 सदस्य हैं जो कांग्रेस के घटक दल यूपीए के मुकाबले कम है।

राज्यसभा में विपक्ष की संख्या-

वहीं विपक्ष की स्थिति लोकसभा में कम है तो राज्यसभा में काफी मजबूत है। कांग्रेस के घटक दल यूपीए के पास 112 सदस्य हैं।

अन्य दलों की संख्या-

वहीं अगर इन दोनों दलों के अलावा अन्य दलों की बात करें तो 39 सदस्य हैं जो इन दोनों दलों को किसी भी तरह से समर्थन नहीं करते हैं ऐसे में राज्यसभा में तीन तलाक बिल का पास होने मुश्किल है। वहीं विपक्ष इस बिल को सेलेक्ट कमिटी को भेजना चाहता है।

Next Story
hari bhoomi
Share it
Top