Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आदिवासी संस्कृति को प्रोत्साहन देगी सरकार

पीएम मोदी करेंगे राष्ट्रीय जनजातीय कार्निवल का उद्घाटन

आदिवासी संस्कृति को प्रोत्साहन देगी सरकार
नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने आदिवासी संस्कृति और परंपरा को प्रोत्साहित करने की दिशा में यहां दिल्ली में पहली बार चार दिवसीय राष्ट्रीय जनजातीय कार्निवल आयोजित करने का निर्णय लिया है, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे।
यह जानकारी मंगलवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान केंद्रीय आदिवासी मामलों के मंत्री जुएल ओराम ने दी। ओराम ने बताया कि नई दिल्ली के इंदिरागांधी इंडोर स्टेडियम में चार दिवसीय प्रथम आदिवासी कार्निवाल का 25 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उद्घाटन करेंगे। उन्होंने इस कार्निवाल का मुख्य उद्देश्य आदिवासियों के बीच समावेशी भावना को बढ़ावा देना बताया और कहा कि इसका अंतरनिहित विचार आदिवासी जनजीवन की संस्कृति, परंपरा, रीति-रिवाज और उनके कौशल से संबंधित विभिन्न पहलुओं को बढ़ावा देना है।
इन चार दिनों के आयोजन में आदिवासियों के सामाजिक-सांस्कृतिक दस्तावेजों, कला, शिल्पकृति, सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा खेल पेंटिंग और पारंपरिक चिकित्सा कार्यों से संबंधित कौशल आदि का प्रदर्शन किया जाएगा। इसके अलावा पंचायती राज (अनुसूचित क्षेत्र तक विस्तार) अधिनियम-1996 (पीईएसए), इसका क्रियान्वयन अनुसूचित जन जाति समुदाय का इसका लाभ एवं कमियों, वन अधिकार अधिनियम (एफआरए) 2006 और इसके निहितार्थ और राजनीति में आरक्षण और आवश्यकता जैसे मुद्दों पर कार्यशाला भी इस चार दिवसीय कार्निवाल का हिस्सा होगी।
प्रदर्शनी भी आकर्षण बनेगी
केंद्रीय मंत्री ओराम ने बताया कि इस कार्निवाल के दौरान संगीत एवं नृत्य, प्रदर्शनी, शिल्प का प्रदर्शन, फैशन शो, पैनल डिस्कशन और पुस्तक मेले का भी आयोजन किया जाएगा। इसके साथ ही इस कार्निवाल के दौरान भारतीय आदिवासी जनजीवन एवं संस्कृति, संगीत, पारंपरिक व्यंजन से संबंधित ज्ञान तथा अनुभव से भरपूर संगीत और नृत्य के कार्य प्रस्तुत किए जाएंगे। इस कार्निवाल में देश भर से लगभग 1600 आदिवासी कलाकारों और 15000 प्रतिनिधियों के भाग लेने की उम्मीद है। खेल,साहित्य कला एवं संस्कृति,शिक्षा तथा मेडिसिन के क्षेत्र के संबंधित प्रमुख हस्तियों को भी इस कार्निवाल में आमंत्रित किया गया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top