Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पांच काम की खबर: इसे पढ़ने से चुके तो गवां बैठेंगे 50 लाख

पढ़िए बेहद काम की ये पांच काम की खबर। इनमे जीएसटी, आधार, सिम कार्ड, नौकरी एसी लोकल ट्रेन और सुपरसॉनिक कार समेत तमाम बड़ी चीजों के बारे में जानकारी दी गई हैं।

पांच काम की खबर: इसे पढ़ने से चुके तो गवां बैठेंगे 50 लाख

पढ़िए ये 5 बेहद कम कि खबरें-

99% सामान आएंगे 18% जीएसटी के दायरे में

पीएम मोदी ने संकेत दिए हैं कि जल्द 99 प्रतिशत सामान को जीएसटी के 18 फीसदी वाले दायरे में लाने की योजना है। उन्होंने कहा कि कुछ चीजें ही 28 प्रश जीएसटी के दायरे में रहेंगी, बाकी चीजें 18 प्रश या उससे कम जीएसटी दायरे में रहेंगी। अगर ऐसा होता है तो करीब 35 चीजें सस्ती हो जाएंगी। इनमें एसी, डिजिटल कैमरा, कार जैसी चीजें शामिल है।

बैंक खाते और सिम के लिए आधार जरुरी नहीं

सरकार बैंकों और मोबाइल फोन कंपनियों को ग्राहकों के ईकेवाइसी के लिए आधार का विकल्प फिर से देने जा रही है। हालांकि यह अनिवार्य नहीं होगा। आधार कानून में संशोधन कर सरकार ग्राहकों के लिए इन सेवाओं में आधार का इस्तेमाल वैकल्पिक कर रही है। अर्थात यदि ग्राहक चाहे तो वह बैंकों और मोबाइल सिम के ईकेवाइसी के लिए आधार का इस्तेमाल कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल 26 सितंबर को आधार की अनिवार्यता के मसले पर ऐतिहासिक निर्णय दिया था।

फरवरी से चलेगी उत्तर भारत की पहली एसी लोकल ट्रेन

उत्तर भारत में पहली वातानुकूलित (एसी) लोकल ट्रेन अगले साल से पटरियों पर उतरेगी। रेलवे की योजना दिल्ली से कम दूरी की यात्रा करने वाले मुसाफिरों के लिए अत्याधुनिक ट्रेन चलाने की है। सूत्रों ने बताया कि एमईएमयू (मेनलाइन इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट) ट्रेन में स्टेनलेस स्टील के आठ डिब्बे होंगे। यह दिल्ली से 200-300 किलोमीटर दूर स्थित उत्तर प्रदेश के शहरों तक चलेंगी। उन्नत एमईएमयू वातानुकूलित ट्रेनें 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं।

इनके पिछले संस्करण की गति 100 किलोमीटर प्रति घंटे थी। वहीं नई ट्रेन में 2,618 यात्रियों की क्षमता है जबकि मौजूदा ट्रेन में 2,402 मुसाफिर ही आ सकते हैं। इन्टीग्रल कोच फैक्टरी (आईसीएफ) के महाप्रबंधक सुधांशु मणि ने बुधवार को कहा कि सभी आठ डिब्बों में दो-दो शौचालय होंगे। जीपीएस से जुड़ी सूचना प्रणाली होगी, स्वाचलित दरवाजे और गद्देदार सीटें होंगी। साथ ही सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी।

चेन्नई की इन्टीग्रल कोच फैक्टरी से ऐसी पहली वातानुकूलित लोकल ट्रेन को परीक्षण के लिए भेजा जाएगा। मणि ने कहा कि हमने रेलवे बोर्ड से इस ट्रेन को उत्तर रेलवे को आवंटित करने का अनुरोध किया है। यह ट्रेन दिल्ली में होगी और वहां से अन्य शहरों के लिए चलेगी। लोकल ट्रेनों का परीक्षण दो महीने से भी कम वक्त में पूरा होने की उम्मीद है। इसके बाद फरवरी के शुरू से यह चलना प्रारंभ करेंगी।

एक लाख लोगों को बैंक में मिलेगी सरकारी नौकरी

सरकारी बैंक इस वित्त वर्ष में पिछली बार से दोगुनी हायरिंग करने की योजना बना रहे हैं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई), बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, सिंडिकेट बैंक जैसे सरकारी बैंक आधुनिक बैंकिंग के हिसाब से बननेवाले रोल के मद्देनजर मार्च तक करीब 1 लाख प्रोफेशनल्स को हायर करने की प्रक्रिया शुरू कर चुके हैं।

नए स्पेशलाइजेशन के चलते बैंकों के रिक्रूटमेंट में बढ़ोतरी हुई है। सरकारी बैंक भी अब चीफ एथिक्स ऑफिसर, चीफ मार्केटिंग ऑफिसर, चीफ इनवेस्टमेंट ऑफिसर, चीफ लर्निंग ऑफिसर, हेड एनालिटिक्स, डिजिटल मार्केटिंग कैंपेनर जैसी पोस्ट क्रिएट कर रहे हैं। इसके लिए प्राइवेट बैंकों से टैंलेट हायर कर रहे हैं। इन पोस्ट के लिए सैलरी 50 लाख सालाना से शुरू हो रही है।

1,600 किमी प्रतिघंटा की रफ़्तार से दौड़ेगी सुपरसॉनिक कार

जमीन पर अब तक सबसे तेज रफ्तार का रिकॉर्ड 1,228 किलोमीटर प्रतिघंटा है। यह रिकॉर्ड 1997 में थर्स्टएसएससी ने बनाया था। अब 1,35,000 हॉर्स पावर की ताकत के जरिए ब्लडहाउंड एसएससी की टीम ने तोड़ने की घोषणा कर दी है। ब्लडहाउंड एसएससी के अनुसार टीम ऐसी सुपरसॉनिक कार बनाने की तैयारी में जुटी है जो 1,000 मील यानि 1,600 किमी प्रतिघंटा से ज्यादा की रफ्तार से दौड़ने में कामयाब होने के कुछ ही कमद दूर है।

ब्लडहाउंड प्रोजेक्ट की टीम के मुताबिक उनकी सुपरसॉनिक कार, जेट और रॉकेट इंजन से चलेगी। ये दोनों इंजन कार को 1,35,000 से ज्यादा हॉर्स पावर की ताकत देंगे। टीम के मुताबिक फॉर्मूला वन रेस में भाग लेने वाली सारी कारों को मिला भी दें तो उनकी ताकत ब्लडहाउंड की कार से कम से कम छह गुना कम होगी।

Share it
Top