Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग में होगा इस खास पेन का इस्तेमाल

आयोग ने कहा कि राष्ट्रपति पद के चुनाव में सांसद और विधायक अपने निजी पेन का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे।

राष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग में होगा इस खास पेन का इस्तेमाल

सोमवार को होने वाले देश के अगले राष्ट्रपति पद के चुनाव में सांसद और विधायक अपनी पेन का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे, बल्कि मतदान के लिए वे खास तौर पर डिजाइन किए गए पेन का इस्तेमाल करेंगे।

निर्वाचन आयोग ने रविवार को कहा कि किसी अन्य पेन से डाला गया मत अवैध करार दिया जाएगा। आयोग ने आम चुनावों में मतदाताओं की उंगलियों पर लगाई जाने वाली अमिट स्याही के आपूर्तिकर्ता मैसूर पेंट्स से बैंगनी रंग की स्याही वाले इस खास पेन को खरीदा है।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बिहार में राजनीतिक दलों की ये है रणनीति, ऐसे करें वोट

इस पेन का अपना एक अद्वितीय सीरियल नंबर होता है तथा संसद और राज्य विधानसभाओं में मतदान करने से ठीक पहले मतदाता सांसद/विधायक को यह पेन दी जाएगी।

राज्यसभा के लिए हुए मतदान के दौरान पिछले साल हरियाणा में उपजे विवाद के मद्देनजर निर्वाचन आयोग ने यह अनूठी पहल की है। पिछले साल सितंबर में कांग्रेस के 14 विधायकों के मत अवैध करार दे दिए गए थे, क्योंकि उन्होंने आधिकारिक तौर पर प्रदान की गई पेन की जगह किसी और पेन से मतदान कर दिया था।

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी एक वक्तव्य में कहा गया है, 'खास तौर पर डिजाइन की गई पेन हर जगह भेज दी गई है, ताकि मतदान के लिए सिर्फ आयोग द्वारा प्रदत्त उपकरणों का ही इस्तेमाल सुनिश्चित हो सके।'

वक्तव्य में कहा गया है, 'वोटिंग चैंबर में प्रवेश करने से पहले निर्वाचन अधिकारी मतदाता के पास मौजूद उनका निजी पेन रख लेगा और मतदाता विधायकों/सांसदों को मतदान करने के लिए एक खास पेन प्रदान करेगा।'

मतदान करने के बाद इस खास पेन को निर्वाचन अधिकारी को लौटाना भी होगा। आयोग ने कहा कि किसी भी अन्य पेन से मतदान करने पर मतगणना के दौरान मत को अवैध करार दिया जाएगा।'

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति चुनाव 2017: UPA की मीरा पर NDA के राम भारी, आंकड़ों से हुआ खुलासा

निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए खास तौर पर जागरूकता फैलाने वाले पोस्टर तैयार करवाए हैं, जिनमें बताया गया है कि मतदान के दौरान क्या करें और क्या न करें। इन पोस्टरों का उद्देश्य शांतिपूर्वक मतदान संपन्न कराना है।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए कुल 32 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। इनमें से एक मतदान केंद्र संसद भवन के कमरा संख्या-62 में बनाया गया है, जबकि हर राज्य की विधानसभा में एक-एक मतदान केंद्र स्थापित किया गया है।

ये करेंगे मतदान

4896 कुल मतदाता

4120 विधायक

Next Story
Top