Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राहुल गांधी की अध्यक्षता में पहली बार होगा कांग्रेस महाअधिवेशन, बीजेपी के खिलाफ बन सकती है ये रणनीति

भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस का अधिवेशन दिल्ली में 3 दिनों के लिए आज से शुरू हो रहा है। इस अधिवेशन की अध्यक्षा पहली बार राहुल गांधी करेंगे।

राहुल गांधी की अध्यक्षता में पहली बार होगा कांग्रेस महाअधिवेशन, बीजेपी के खिलाफ बन सकती है ये रणनीति

भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस का अधिवेशन दिल्ली में 3 दिनों के लिए आज से शुरू हो रहा है। इस अधिवेशन की अध्यक्षा पहली बार राहुल गांधी करेंगे। यूपी की दो और बिहार की एक लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में बीजेपी की हार बीच कांग्रेस महाधिवेशन हो रहा है।

अधिवेशन में शामिल होंगे इतने सदस्य और प्रतिनिधि

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस अधिवेशन में कांग्रेस के 1500 के आसपास एआईसीसी सदस्य और 12,000 से ज्यादा पीसीसी प्रतिनिधि शामिल होंगे। तीन दिन का यह अधिवेशन दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में होगा।

ये भी पढ़ें- मोदी सरकार के खिलाफ YSR कांग्रेस के नोटिस का CM नायडू ने किया समर्थन, इन पार्टियों का भी साथ मिला

अधिवेशन से पहले शरद पवार से राहुल की मुलाकात

राहुल गांधी ने कांग्रेस महाअधिवेशन से पहले शरद पवार से मुलाकात की है। ऐसा माना जा रहा है कि 2019 के आम चुनाव से पहले भाजपा के खिलाफ विपक्ष के संयुक्त मोर्चे के लिए प्रयासों को मजबूती देने के लिए यह मुलाकात हुई है।

दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात ऐसे समय में हुई जबकि कांग्रेस का उत्तर प्रदेश एवं बिहार में हुए उपचुनाव में काफी खराब प्रदर्शन रहा है। उत्तर प्रदेश में गोरखपुर एवं फूलपुर संसदीय क्षेत्र के लिए हुए उपचुनावों में भाजपा को भी पराजय का सामना करना पड़ा।

अधिवेशन से पहले सोनिया का डिनर

कांग्रेस के सूत्रों के अनुसार माना जाता है कि भाजपा के खिलाफ विपक्ष के संयुक्त मोर्चे को बनाने के बारे में प्रयासों पर विचार विमर्श किया गया। इस बैठक से एक दिन पहले ही यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विपक्षी नेताओं के लिए एक रात्रिभोज की मेजबानी की थी जिसमें कांग्रेस सहित 20 विपक्षी दलों ने शिरकत की।

ये भी पढ़ें- DGCA के आदेश के बाद एयरलाइंस का बड़ा फैसला, Indigo - GoAir की 626 उड़ानें होंगी रद्द

बीजेपी रथ को रोकने के लिए बनेगी रणनीति

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस अपने महत्वपूर्ण राजनीतिक प्रस्ताव में गठबंधन की राजनीति पर मोहर लगा देगी कांग्रेस मान रही है कि वर्तमान रिस्थितियों में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी से लड़ने के लिए एक व्यापक धर्मनिरपेक्ष गठबंधन बनाए जाने की जरूरत है।

Next Story
Top