Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तमिलनाडु: पलानीसामी ने हासिल किया विश्वासमत, 122 विधायकों का मिला साथ

तमिलनाड़ु की संसद में हंगामे के दौरान हालात संभालने के लिए मार्शल को बुलाना पड़ा।

तमिलनाडु: पलानीसामी ने हासिल किया विश्वासमत, 122 विधायकों का मिला साथ
चेन्नई. तमिनलनाडु विधानसभा में शशिकला के करीबी और राज्य के मुख्यमंत्री पलानीसामी ने विश्वासमत जीत लिया है। इससे पहले संसद में जोरदार हंगामा हुआ था। तमिलनाडु विधानसभा में बहुमत परीक्षण के दौरान भारी हंगामे की वजह से दो बार कार्यवाही स्थगित होने के बाद फिर से शुरू हुई और फैसला आ गया है। करीब 122 विधायकों ने पलानीसामी के समर्थन में वोट डाले थे।
बहुमत साबित करने के बाद पलानीसामी ने जयललिता की समाधि पर श्रद्धांजलि दी।
इससे पहले तमिलनाडु की संसद में कार्रवाई के दौरान गुप्त मतदान की मांग को लेकर द्रमुक विधायकों ने कुर्सियां तोड़ी, फेंकी और पेपर फाड़े। वहीं विधायकों ने स्पीकर से हाथापाई भी की। तमिल की राजनीति में यह समय हंगामे और बवाल में डूबा रहा। संसद में हंगमा की आंच बाहर पहुंच गई जब स्टॉलिन ने सड़क पर अपनी फटी हुई शर्ट दिखाई और हंगामा किया। इसके बाद तमिलनाडु विधानसभा को 3 बजे तक के लिए फिर से स्थगित कर दिया गया।
जब सदन में बुलाए गए मार्शल-
तमिलनाड़ु की संसद में हंगामे के दौरान हालात संभालने के लिए मार्शल को बुलाना पड़ा। इस पूरे हंगामे के दौरान एक अधिकारी घायल हो गए, जिन्हें फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया। डीएमके के विधायक कु का सेल्वम विरोध प्रदर्शन करते हुए स्पीकर की कुर्सी पर जा बैठे। सदन के अंदर भारी हंगामे को देखते हुए विधानसभा को पहले दोपहर एक बजे तक और फिर उसके बाद दोबारा तीन बजे तक के लिए स्थगित करना पड़ा।
दिया गया डीएमके विधायकों को निकालने का आदेश-
स्पीकर पी. धनपाल ने असेंबली पुलिस को आदेश दिया है कि वह डीएमके विधायकों को सदन से बाहर निकाले। स्पीकर ने आगे कहा कि डीएमके विधायकों ने मेरा अपमान किया और मेरी शर्ट फाड़ दी जिसके बाद मैं वह काम करने जा रहा हूं जो कानून के तहत है। इससे पहले, विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विश्वासमत से ठीक पहले वहां के सभी दरवाजे बंद कर दिए गए थे ताकि किसी तरह का कोई अवरोध उत्पन्न ना हो।
सीक्रेट बैलेट पर अड़े पन्नीरसेल्वम-
पन्नीरसेल्वम ने कहा कि ये बात सभी जानते हैं कि विधायकों को कोवाथुर रिजॉर्ट में रखा गया था। सबसे पहले लोगों की आवाज़ सुननी चाहिए उसके बाद विधानसभा के अंदर बहुमत साबित किया जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि मैं यह अपील करता हूं कि सीक्रेट बैलेट हो।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top