Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुश्तैनी सोना साबित करना है तो ये तरीके अपनाएं

वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी कर साफ किया है कि पुश्तैनी गहनों पर कोई टैक्स नहीं लगेगा

पुश्तैनी सोना साबित करना है तो ये तरीके अपनाएं
नई दिल्ली. विमुद्रीकरण के बाद सरकार ने अब सोने रखने को लेकर सीमा तय कर दी है। हर विवाहित महिला को 500 ग्राम, अविवाहित महिला को 250 ग्राम और पुरुषों को 100 ग्राम सोना रखने की छूट है। इस बीच एक अफवाह भी फैली कि पुश्तैनी गहनों या सोना पर भी सरकार टैक्स लगाएगी, लेकिन वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी कर साफ किया है कि पुश्तैनी गहनों या घोषित आय से खरीदे गए सोने और गहनों पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। हम आपको वो तरीका बता रहे हैं जिससे आप ये साबित कर सकते हैं कि आपका गहना पुश्तैनी है या नहीं, जानिए उन तरीकों के बारे में...
1. यदि आपके पास पुश्तैनी सोना गहने या किसी अन्य रूप में है और उसका खुलासा आपने 2014-15 तक के संपत्ति कर में किया है तो वह सोना वैध माना जाएगा। बशर्ते आपके पास उसकी टैक्स रसीद होनी चाहिए।
2. पुश्तैनी सोना आपका है या नहीं, इसके लिए आप वसीयत को सबूत के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। आपके पुरखों ने जो वसीयत आपके नाम लिखी है वह पुश्तैनी गहनों की प्रमाणिकता के लिए काफी है।
3. अगर किसी ने गिफ्ट के तौर पर आपको सोना या गहना दिया है, तो खरीददार के नाम की रसीद अपने पास रखें। यानि कि जिस व्यक्ति ने आपके लिए सोना खरीदा है उसे दुकानदार रिसीविंग देगा, उस रसीद की मूल कॉपी या फोटोकॉपी आप अपने पास रख लें।
4. अगर आपने पुश्तैनी गहनों या सोने का टैक्स नहीं दिया है तो उसका मूल्याकंल रिपोर्ट देनी पड़ेगी। इसके साथ ही अगर गहनों को तोड़कर फिर से बनवाया गया है तो इसकी रसीद अपने पास जरूर रखें।
5. पुराने और नए सोने में काफी अंतर होता है। ऐसे में आप पुराने गहनों या सोने की फोटों खींचकर अपने पास रख लें। जिससे साफ पता चल जाएगा कि आपने नहीं खरीदी है।
6. आपने यदि अपने घर का इंश्योरेंस करवाया है और साथ में सोने का भी, तो इंश्योरेंस पेपर को सबूत के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि इंश्योरेंस पेप में आपके घर के साथ-साथ यदि आपने गोल्ड का जिक्र बी किया है तो उसका विवरण पेपर पर लिखा होगा।
7. जिन लोगों ने पुश्तैनी सोने या गहनों को गिरवी रखा है तो वह उसकी रसीद को सबूत के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top