Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

#AsaramBapu: जानिए आसाराम के केस में बीते 5 सालों में अब तक क्या-क्या हुआ

आसाराम 15 अगस्त 2013 को राजस्थान के जोधपुर जिले के एक फार्म हाउस में मौजूद थे। यहीं वह वारदात हुई जिसने आसाराम को जेल पहुंचा दिया। यह मामला था एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म का।

#AsaramBapu: जानिए आसाराम के केस में बीते 5 सालों में अब तक क्या-क्या हुआ

आसाराम 15 अगस्त 2013 को राजस्थान के जोधपुर जिले के एक फार्म हाउस में मौजूद थे। यहीं वह वारदात हुई जिसने आसाराम को जेल पहुंचा दिया। यह मामला था एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म का। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि बीते पांच सालों में आसाराम के केस में क्या-क्या हुआ।

यह भी पढ़ें- #AsaramVerdict: दोषी पाए जाने पर आसाराम को कितनी मिलेगी सजा, जानिए क्या है पूरा मामला

15 अगस्त 2013

15 अगस्त की रात जोधपुर के पास मणई गांव में एक फार्म हाउस में आसाराम ने नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म किया।

19 अगस्त 2013

19 अगस्त को पीड़िता और उसके परिजनों ने नई दिल्ली के कमला नगर पुलिस स्टेशन में रात 11:55 बजे आसाराम के खिलाफ FIR दर्ज कराई। उसी रात करीब 1:05 बजे पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराया और आसाराम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

20 अगस्त 2013

20 अगस्त को कमला नगर थाने में धारा 164 के तहत पीड़िता के बयान दर्ज कराए गए और दर्ज जीरो FIR को जोधपुर भेजा गया।

21 अगस्त 2013

21 अगस्त को जोधपुर पुलिस ने शाम करीब 6:15 बजे आसाराम के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 342, 376, 354 (ए), 506, 509 व 134 के तहत मामला दर्ज किया।

31 अगस्त 2013

आसाराम के खिलाफ केस दर्ज करने के बाद जोधपुर पुलिस की एक टीम मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में पहुंची। पुलिस ने यहां से आसाराम को गिरफ्तार किया। इसके बाद पुलिस ने आसाराम के खिलाफ POCSO एक्ट की धारा 8 और जेजेए की धारा 23 व 26 के तहत मुकदमा दर्ज किया।

6 नवम्बर 2013

जोधपुर पुलिस ने इसके बाद आसाराम के खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया और 29 नवम्बर को कोर्ट ने इस मामले पर संज्ञान लिया।

13 फरवरी 2014

13 फरवरी को मामले में कोर्ट ने मुख्य आरोपी आसाराम और सहआरोपी शिल्पी, शरद, प्रकाश के खिलाफ आरोप तय किए।

19 मार्च 2014 से 6 अगस्त 2016

19 मार्च से 66अगस्त के बीच अभियोजन पक्ष ने अपनी तरफ से कोर्ट में 44 गवाह पेश किए और उनकी गवाही कराई। साथ ही इस मामले में कोर्ट में 160 दस्तावेज पेश किए गए।

4 अक्टूबर 2016

इसके बाद 4 अक्टूबर को कोर्ट में आसाराम के बयान दर्ज किए गए।

22 नवंबर 2016 से 11 अक्टूबर 2017

इस समयावधि में बचाव पक्ष ने अदालत में 31 गवाहों के बयान दर्ज कराए। साथ ही कोर्ट में 225 दस्तावेज प्रस्तुत किए।

7 अप्रैल 2018

आसाराम के मामले में विशेष एससी-एसटी कोर्ट में बहस पूरी हो गई।

25 अप्रैल 2018

जोधपुर कोर्ट ने मामले पर सुनवाई के बाद 25 अप्रैल को फैसल सुनाने का निर्णय किया।

25 अप्रैल 2018

आसाराम को उम्रकैद की सजा व अन्य 2 आरोपी को मिली 20-20 साल की सजा।

Next Story
Top