Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कर्नाटक चुनाव: जुबानी जंग खत्म, अब मतदाताओं के पाले में गेंद- 12 मई को 224 सीटों पर होगा मतदान

कर्नाटक चुनाव प्रचार के आखिरी दिन पीएम मोदी और अमित शाह के साथ भाजपा ने 23 दिग्गज मैदान में उतारे, केंद्रीय मंत्री भी रोड शो और रैली में शामिल हुए।

कर्नाटक चुनाव: जुबानी जंग खत्म, अब मतदाताओं के पाले में गेंद- 12 मई को 224 सीटों पर होगा मतदान

कर्नाटक में आज चुनाव प्रचार थम गया है। प्रचार के आखिरी दिन पीएम मोदी और अमित शाह के साथ भाजपा ने 23 दिग्गज मैदान में उतारे, केंद्रीय मंत्री भी रोड शो और रैली में शामिल हुए।

पीएम मोदी ने नमो एप के जरिए संबोधित किया। इधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पत्रवार्ता में भाजपा पर जमकर साधा निशाना।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में तमाम राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारकों के बीच जुबानी जंग थम गई है। अब राज्य की 224 सीटों पर ताल ठोक रहे 2,654 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला मतदाताओं के हाथों में है।

यह भी पढ़ें- कर्नाटक चुनाव से पहले कांग्रेस में शोक की लहर, पूर्व मंत्री रामकिशन वर्मा का निधन

12 मई को मतदान होगा और 15 मई को तय होगा कि कौन विधानसभा जाएगा और कौन घर बैठेगा। गुरुवार को खत्म हुए प्रचार के दौरान भाजपा और कांग्रेस ने एक-दूसरे पर तीखे हमले किए तो राज्य का तीसरा बड़ा दल जद (एस) दोनों के निशाने पर रहा।

इधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमो एप के जरिए संबोधित किया। एप के माध्यम से भाजपा के अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति और ओबीसी तथा झुग्गी मोर्चा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के दिल में दलितों और पिछड़े वर्गों के लिए कोई जगह नहीं है।

वहीं उनकी सरकार डॉ बीआर आंबेडकर के शक्तिशाली और समृद्ध भारत के सपने को साकार करने का प्रयास कर रही है। दलितों के मुद्दे पर कांग्रेस के रुख को लेकर उस पर प्रहार करते हुए मोदी ने कहा कि विपक्षी दल ने आंबेडकर के प्रति कोई सम्मान नहीं दिखाया।

यह भी पढ़ें- जनकपुर-अयोध्या बस सेवा: PM मोदी करेंगे रवाना, CM योगी करेंगे स्वागत

उन्होंने आरोप लगाया कि आंबेडकर ने जब 1952 में लोकसभा चुनाव और 1953 में लोकसभा उपचुनाव लड़ा था तो कांग्रेस ने उन्हें हरवाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी। उन्होंने कहा, इस वजह से बाबा साहब को हार और अपमान का सामना करना पड़ा।

कांग्रेस कम से कम एक चीज दिखा दे जो उसने बाबा साहब के सम्मान में की हो। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान , झारखंड और छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकारें हैं जहां बड़ी संख्या में आदिवासी जनसंख्या रहती है।

मोदी ने कहा कि भाजपा असम, अरुणाचल प्रदेश , मणिपुर और त्रिपुरा जैसे पूर्वोत्तर राज्यों में भी सत्ता में है और नगालैंड तथा मेघालय में गठबंधन सरकार का हिस्सा है। उन्होंने कहा, यह दिखाता है कि आदिवासी लोग पूरी तरह भाजपा का समर्थन कर रहे हैं।

शाह का दावा, 130 सीट पार

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कर्नाटक में जीत का दावा किया। शाह ने कहा कि भाजपा कर्नाटक में 130 से ज्यादा सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत से सरकार बनाएगी।

हमें किसी के समर्थन की जरूरत नहीं। येदियुरप्पा अपनी सरकार के 5 साल पूरे करेंगे और नरेंद्र मोदी चट्टान की तरह उनके साथ खड़े रहेंगे। गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में शाह ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को आड़े हाथों लिया।

उन्होंने कहा कि कर्नाटक का विकास भी बेंगलुरु के ट्रैफिक की तरह जाम हो गया है, सिद्धारमैया विधानसभा चुनाव में दोनों सीटों पर हारेंगे।

त्रिशंकु के कयास

कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर बताई जा रही है। अभी तक ओपिनियन पोल में कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर बताई जा रही है। कहा जा रहा है कि इस बार विधानसभा त्रिशंकु होगी। देवेगाेड़ा की पार्टी निर्णायक की भूमिका में आ सकती है।

कांग्रेस के तीखे बोल

केंद्र पर उत्तरी राज्यों को तरजीह देने और दक्षिण के राज्यों से भेदभाव का आरोप लगाया।

भाषा, संस्कृति, विचारधारा के आधार पर राज्य को कम आर्थिक मदद का आरोप लगाया।

लिंगायत को धार्मिक आरक्षण का प्रस्ताव रख भाजपा के परंपरागत वोटबैंक में सेंधमारी की कोशिश की।

महिला सुरक्षा, दलित उत्पीड़न, रोजगार, किसानों के मुद्दों पर कांग्रेस ने भाजपा की केंद्र सरकार को घेरा।

राफेल, नीरव मोदी, विजय माल्या के बहाने केंद्र की मोदी सरकार पर राहुल गांधी ने खूब किए हमले।

भाजपा के प्रहार

राहुल और मोदी ने एक-दूसरे को कई मुद्दों पर 15 मिनट बोलने की चुनौती दी, जो 5 मिनट तक गई।

राज्य के अलग झंडे के मुद्दे पर कर्नाटक की सिद्धारमैया सरकार और कांग्रेस पर जमकर हमले किए।

भ्रष्टाचार, सोनिया गांधी के विदेशी मूल के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरा और केंद्र की उपलब्धियां गिनाईं।

केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली पिछली सरकारों को भ्रष्टाचार, घोटालों सहित कई मुद्दों पर घेरा।

सीएम सिद्धारमैया समेत राज्य के मंत्रियों के भ्रष्टाचार के मुद्दों को प्रधानमंत्री ने बनाया निशाना।

राहुल गांधी का पलटवार, मेरी मां दूसरों से कहीं ज्यादा भारतीय

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उनमें ‘खतरा' दिखाई देता है। प्रधानमंत्री बनने की उनकी मंशा जाहिर करने के बाद मोदी का उन पर हमला सिर्फ लोगों का ध्यान भटकाने का तरीका है।

राहुल ने संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के विदेशी मूल का मुद्दा उठाने के लिए मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि ‘उनकी मां इतालवी हैं' लेकिन वह अनेक भारतीयों से ‘अधिक भारतीय' हैं।

राहुल ने सोनिया के विदेशी मूल का जिक्र करने के लिए मोदी की आलोचना की और कहा, मेरी मां इतालवी हैं। उन्होंने अपनी जिंदगी का बड़ा हिस्सा भारत में गुजारा है। वह कई अन्य भारतीयों से कहीं अधिक भारतीय हैं।

उन्होंने कहा, उन्होंने देश के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया। उन्होंने देश के लिए परेशानियां झेली हैं। जब मोदी इस प्रकार की टिप्पणी करते हैं, तो इससे व्यक्ति की गुणवत्ता के बारे में पता चलता है।

अगर उन्हें इस प्रकार की टिप्पणी करने में मजा आता है तो मुझे खुशी है, उनका स्वागत है। गौरतलब है कि पीएम मोदी ने अपनी चुनावी रैली में सोनिया के विदेशी मूल का मुद्दा उठाया था और चुनौती दी थी कि कांग्रेस प्रमुख कर्नाटक सरकार की उपलब्धियों के बारे में किसी भी भाषा में, चाहे अपनी मां की मातृभाषा में ही 15 मिनट बोल दें।

इनपुट भाषा

Next Story
Top