Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हैदराबाद हाउस के बाहर तिब्बती छात्रों का प्रदर्शन, चीनी राष्ट्रपति से कर रहे हैं तिब्बत की आजादी की मांग

तिब्बती छात्रों और तिब्बती युवा कांग्रेस के लोगों का तीन दिन से प्रदर्शन जारी है।

हैदराबाद हाउस के बाहर तिब्बती छात्रों का प्रदर्शन, चीनी राष्ट्रपति से कर रहे हैं तिब्बत की आजादी की मांग
नई दिल्ली. हैदराबाद हाउस में पीएम मोदी और शी जिनपिंग की बैठक चल रही है। चीनी राष्ट्रपति के दौरे के खिलाफ होटल ताज पैलेस के निकट तिब्बती विरोध शुरु हो गया है और यह विरोध हैदराबाद हाउस तक पहुंच चुका है। प्रदर्शन कर रहे तिब्बती छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया।
तिब्बती छात्रों और तिब्बती युवा कांग्रेस के लोगों का तीन दिन से प्रदर्शन जारी है। आज प्रदर्शन हैदराबाद हाउस के बाहर चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के विरोध में हो रहा है। तिब्तबी लोग धौला कुआं के पास भी प्रदर्शन कर रहे हैं। एक प्रदर्शनकारी हाथ में आजाद तिब्बत का झंडा लिए खंभें पर चढ़कर विरोध कर रहा था। तिब्बत युवा कांग्रेस ने बुधवार को चाइनीज एसेंबली के बाहर भी प्रदर्शन किया जब तक पुलिस ने उन्हें वहा से हटाया नही।
तिब्बत युवा कांग्रेस के अध्यक्ष तेनजीन जिग्मे ने कहा कि तिब्बत की स्थति दयनीय और खराब है। 2009 से 130 तिब्बतियों ने आत्मदाह किया। हम इस मुद्दे का समाधान करना चाहते है। चाइनीज राष्ट्रपति को इस जरूर समझना चाहहिए और एक समाधान निकलाना चाहिए।
उल्लेखनीय है कि मोदी और जिनपिंग की मौजूदगी में अहमदाबाद में बुधवार को तीन समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए। इन तीन समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर होने के बाद अब चीन की औद्योगिक, स्वास्थ्य और शैक्षणिक अधोसंरचना अब गुजरात में भी तैयार होगी। इस दौरान दोनों के बीच कई समझौतों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है। जिसमें आधारभूत संरचना और रेलवे शामिल होंगे।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, तिब्बती लोग क्यों प्रदर्शन कर रहे चीन के राष्ट्रपति के विरोध में -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top