Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट के ये तीन जज करेगें फैसला

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के लिए तीन न्यायाधीशों की विशेष बेंच का गठन किया है।

अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट के ये तीन जज करेगें फैसला

उत्तर प्रदेश में लंबे समय के इंतजार के बाद राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट की विशेष बेंच सुनवाई शुरू करने जा रही है।

6 सालों से लंबित इस मामले की सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट ने तीन न्यायाधीशों- जस्टिस दीपक मिश्रा, अशोक भूषण और अब्दुल नजीर की विशेष बेंच का गठन किया है जो इस मामले पर नियमित सुनवाई करेगी।

जस्टिस दीपक मिश्रा

3 अक्टूबर 1953 को जन्मे मिश्रा ने 1977 में उड़ीसा उच्च न्यायालय में एक अधिवक्ता के तौर पर अपना कैरियर शुरू किया था। सुप्रीमकोर्ट के जस्टिस दीपक मिश्रा देश के अगले मुख्य न्यायाधीश होंगे। जस्टिस मिश्रा जे एस खेहर की जगह लेने के बाद भारत के 45वें मुख्य न्यायधीश होंगे। और वे 28 अगस्त को शपथ ग्रहण करेंगे।

सुप्रीमकोर्ट मुख्य न्यायाधीश के तौर पर जस्टिस मिश्रा का कार्यकाल 28 अगस्त 2017 से लेकर 2 अक्टूबर 2018 तक रहेगा। मालूम हो कि जस्टिस दीपक मिश्रा पटना हाईकोर्ट के भी मुख्य न्यायाधीश रह चुके हैं।

जस्टिस दीपक मिश्रा ने साल 1977 में ओडिशा हाईकोर्ट से अपनी वकालत शुरू की थी उसके बाद साल 1996 में ओडिशा हाईकोर्ट में जज बने थे। और वे साल 1997 में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के जज बने थे।

जस्टिस अशोक भूषण

जस्टिस अशोक भूषण का जन्म 5 जुलाई 1965 को उत्तर प्रदेश के जौनपुर में हुआ था। अशोक भूषण केरल हाई कोर्ट के 31 वे मुख्य जज बने थे। उन्होंने 1979 में उत्तर प्रदेश बार काउंसिल ज्वाइन की और इलाहाबाद में ही कुछ सालो तक प्रैक्टिस की।

जस्टिस अब्दुल नजीर

जस्टिस अब्दुल नजीर का जन्म 5 जनवारी 1985 को मूडबिद्री के निकट बेलु में हुआ था। वे अब भारत के सर्वोच्च न्यायालय के एक न्यायाधीश हैं।

कर्नाटक उच्च न्यायालय के एक पूर्व स्थायी न्यायाधीश, नजीर ने 1983 में एक वकील के रूप में नामांकन किया और कर्नाटक उच्च न्यायालय में तैयारी शुरू की। मई 2003 में, उन्हें एक अतिरिक्त न्यायाधीश के तौर पर नियुक्त किया गया था।

Next Story
Share it
Top