Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बंगाल की खाड़ी में तीन नौकाएं डूबीं, 19 मछुआरे लापता, 28 को रेस्क्यू किया गया

दक्षिण बंगाल के सुंदरवन इलाके में बंगाल की खाड़ी के फ्रेजरगंज तट के पास समुद्र में मछली पकड़ने वाली तीन नौकाएं डूबने से उसमें सवार कम से कम 19 मछुआरे लापता हो गए।

बंगाल की खाड़ी में तीन नौकाएं डूबीं, 19 मछुआरे लापता, 28 को रेस्क्यू किया गया

दक्षिण बंगाल के सुंदरवन इलाके में बंगाल की खाड़ी के फ्रेजरगंज तट के पास समुद्र में मछली पकड़ने वाली तीन नौकाएं डूबने से उसमें सवार कम से कम 19 मछुआरे लापता हो गए। अधिकारियों ने आज बताया कि कल शाम करीब चार बजे तीन नौकाएं समुद्र में डूब गईं और 47 मछुआरे समुद्र में गिर गए।

अधिकारियों ने बताया कि उनमें से 28 को दूसरी नौकाओं ने बचा लिया जबकि एक दिन की खोज के बाद 19 अन्य मछुआरों का कोई अता-पता नहीं है। लापता लोगों की तलाश के लिए जेट इंजन से चलने वाली नौका और तटरक्षक बल के विमान को लगाया गया है।
सुंदरवन के पुलिस अधीक्षक तथागत बसु ने बताया कि तटरक्षक बल के कर्मी, पुलिस अधिकारी और मछुआरा संघ के सदस्य भी बचाव अभियान के लिए समुद्र में गए हुए हैं। अधिकारियों ने बताया कि 19 लापता लोगों में से अभी किसी का पता नहीं चला है।
हालांकि, बचावकर्ताओं ने समुद्र में डूबी नौकाओं का मलबा केंडो द्वीप के समीप एमवी मल्लेश्वर में देखा। उन्होंने बताया कि सूरज डूबने के बाद बचाव अभियान रोक दिया गया और कल फिर से बचाव अभियान शुरू किया जाएगा।
वेस्ट बंगाल यूनाइटेड फिशरमेन एसोसिएशन के सचिव बिजन मैती ने बताया कि छह से सात नौकाओं पर सवार दक्षिण 24 परगना जिले के नामखाना और काकद्वीप के मछुआरे कल सुबह करीब 10 बजे समुद्र में निकले थे।
उस वक्त ‘रेडियो पर मौसम विभाग ने कोई चेतावनी नहीं दी' थी। हालांकि, मौसम विभाग की वेबसाइट से पता चलता है कि पश्चिम बंगाल के मछुआरों को कल समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गयी थी। उन्होंने बताया कि दोपहर करीब 4 बजे मौसम खराब होने लगा और ऊंची लहरों के साथ तेज हवा चलने लगी।
एक साथ 47 लोग समुद्र में गिर गए और उनमें से 28 को बचा लिया गया।
मैती ने बताया कि इसमें तीन नौका एमवी मल्लेश्वर, एमवी जयकिशन और एमवी मां शिवानी समुद्र में डूब गयी। इनके कई मछुआरे सकुशल वापस आ गये। एमवी जयकिशन के करीब 10, एमवी मालेश्वर के छह और अन्य नौकाओं के तीन मछुआरे लापता हैं।
Next Story
Top