Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

तो इस वजह से भारतीय वायुसेना के पायलट ''अभिनंदन'' को छोड़ेगा पाकिस्तान

पाकिस्तान ने पकड़े गए भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को शांति पहल के तहत छोड़ने की बृहस्पतिवार को घोषणा की। वास्तव में, इसके कुछ ही घंटे पहले भारत ने उन्हें बिना शर्त रिहा करने का कड़ा संदेश दिया था। पाकिस्तान का यह कदम दोनों देशों के बीच बढ़े तनाव को काफी हद तक दूर करेगा।

तो इस वजह से भारतीय वायुसेना के पायलट

पाकिस्तान ने पकड़े गए भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को शांति पहल के तहत छोड़ने की बृहस्पतिवार को घोषणा की। वास्तव में, इसके कुछ ही घंटे पहले भारत ने उन्हें बिना शर्त रिहा करने का कड़ा संदेश दिया था। पाकिस्तान का यह कदम दोनों देशों के बीच बढ़े तनाव को काफी हद तक दूर करेगा।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद के एक संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए ऐलान किया कि भारतीय वायुसेना के पकड़े गए पायलट अभिनंदन को शुक्रवार को रिहा किया जाएगा। पाकिस्तानी सांसदों ने मेजें थपथपा कर इस घोषणा की सराहना की। इससे पहले, उनके विदेश मंत्री ने कहा कि खान भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर शांति वार्ता करना चाहते हैं।

हालांकि, भारत पाकिस्तान से बात करने के 'मूड' में नजर नहीं आ रहा है। भारत ने कहा है कि वह इस्लामाबाद से पहले आतंकवाद पर कार्रवाई चाहता है। नई दिल्ली ने यह भी साफ कर दिया है कि अभिनंदन पर कोई सौदेबाजी नहीं की जा सकती है तथा उन्हें बिना शर्त और फौरन वापस भेजने की मांग की है।
खान ने कहा कि शांति की हमारी कामना में, मैं घोषणा करता हूं कि कल (शुक्रवार को), और बातचीत शुरू करने के लिए पहले कदम के तौर पर, पाकिस्तान अपनी हिरासत में मौजूद भारतीय वायुसेना के अधिकारी को रिहा कर रहा है।
बुधवार को भारतीय वायुसेना और पकिस्तान वायुसेना के लड़ाकू विमानों के बीच झड़प के दौरान मिग 21 के गिरने के बाद पायलट पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में उतर गया था।
खबरों के मुताबिक विंग कमांडर ने अपने विमान के गिरने से पहले पाकिस्तान के एफ - 16 को मार गिराया था। इसके एक दिन पहले, भारतीय वायुसेना ने मंगलवार सुबह पाकिस्तान के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर बम गिराए थे।
भारत और पाक पर संयम दिखाने और तनाव दूरने के लिए अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ने के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उनके पास दोनों दक्षिण एशियाई देशों से कुछ आकर्षक खबरें हैं। उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ अपनी दूसरी शिखर बैठक समाप्त होने के बाद अपने शुरुआती बयान में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका के पास पाकिस्तान और भारत से 'कुछ समुचित आकर्षक खबरें हैं। हम उन्हें (भारत और पाकिस्तान को) रोकने में मदद करने के प्रयास में शामिल हैं और हमारे पास कुछ अच्छी खबरें हैं।
भारत और पाकिस्तान के एक - दूसरे के लड़ाकू विमान को बुधवार को मार गिराने के दावे के बाद ट्रंप ने अपनी प्रथम टिप्पणी में कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि यह (तनाव) खत्म होने वाला है...। पाक विदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरैशी ने कहा कि सऊदी विदेश मंत्री अब्देल अल जुबेर सउदी युवराज मुहम्मद बिन सलमान के एक अहम संदेश के साथ बृहस्पतिवार को इस्लामाबाद का दौरा करेंगे।
नई दिल्ली में सऊदी अरब के राजदूत ने प्रधानमंत्री से मुलाकात कर संकेत दिया कि पायलट की रिहाई सुनिश्चित करने में उनके देश की कुछ भूमिका है। नयी दिल्ली में शीर्ष सरकारी सूत्रों ने कहा कि भारत ने अभिनंदन को दूतावास से संपर्क कराने की मांग नहीं की है क्योंकि उनकी फौरन रिहाई पर कोई बातचीत नहीं हो सकती और दोनों देशों के बीच तनाव घटनाने की पूरी जिम्मेदारी पाकिस्तान पर है।
एक सूत्र ने कहा कि हम उनकी सुरक्षित, बेशर्त और फौरन वापसी चाहते हैं। वह सौदा करने की कोई चीज नहीं हैं। उनकी वापसी पर पाकिस्तान के साथ कोई सौदा करने का कोई सवाल नहीं है।' अभिनंदन के पिता ने कहा कि उन्हें बेटे की बहादुरी पर गर्व है और उन्होंने लोगों के समर्थन और उनकी मंगल कामना के लिए उनका शुक्रिया अदा किया। एयर मार्शल (सेवानिवृत्त) एस वर्तमान ने एक बयान में अपने बेटे के कथित वीडियो का जिक्र किया।
उन्होंने कहा कि उनके बेटे ने एक सच्चे सिपाही की तरह बोला जबकि वह बंदी बना लिए गए थे। यह पूछे जाने पर कि क्या खान के साथ वार्ता होगी, सरकारी सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान को अवश्य ही पहले आतंक रोधी ठोस और स्पष्ट कदम उठाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि विदेश सचिव विजय गोखले ने भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को पाकिस्तानी वायुसेना द्वारा निशाना बनाए जाने के बारे में चीन, फ्रांस, रूस और बिटेन तथा अमेरिका सहित कई देशों के दूतों को इस बारे में जानकारी दी।
सूत्रों ने कहा कि इमरान खान को पुलवामा हमले की जांच पर वार्ता के लिए आगे बढ़ना होगा और भारत आतंकवादियों के खिलाफ फौरन, विश्वसनीय और सत्यापित किए जाने योग्य कार्रवाई चाहता है। सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान को जैश के खिलाफ ठोस कदम उठाने होंगे। उन्होंने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन करने के पाकिस्तान के कदम की निंदा करते हुए कहा कि उनकी वायुसेना ने स्पष्ट तौर पर भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया, जबकि हमने जैश के आतंकी शिविर को निशाना बनाया था।
सूत्रों ने बुधवार की पाकिस्तानी हरकत के बारे में बताया कि 20 से अधिक विमान भारतीय हवाई क्षेत्र की ओर आए थे जिनमें से कुछ ने एलओसी पार किया और भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया। सूत्रों ने बताया कि उन्होंने लेजर गाइडेड बम दागे और वे सैन्य प्रतिष्ठानों पर गिरने से चूक गए। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि इस बारे में पाकिस्तान का दावा झूठा है।
पाक लड़ाकू विमानों ने स्पष्ट रूप से नौशेरा और राजौरी सेक्टर में कई सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया लेकिन भारतीय वायुसेना की गश्त टीम ने उन्हें नाकाम कर दिया।
एक अधिकारी ने बताया कि पाक थल सेना ने भी पुंछ और राजौरी जिलों में बृहस्पतिवार को एलओसी से लगे नागरिक इलाकों में गोलाबारी की। इसमें एक महिला की मौत हो गई जबकि एक जवान घायल हो गया। भारतीय बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की।
Next Story
Share it
Top