Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नेहरु और एडविना माउंटबेटन में नहीं था बेहद निजी रिश्ता

पामेला ने कहा कि पंडित जी और मेरी मां के बीच जिस्मानी संबंध नहीं थे।

नेहरु और एडविना माउंटबेटन में नहीं था बेहद निजी रिश्ता

भारत के अंतिम वायसराय लॉर्ड लूईस माउंटबैटन की बेटी पामेला ने भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के बारे में बड़ा खुलासा किया। पामेला ने बताया कि उनकी मां एडविना और पंडित जवाहर लाल नेहरू एक दूसरे से प्यार करते थे और उनके बीच का प्यार पाक-साफ था।

इसे भी पढ़ें: 70 साल पहले आज ही के दिन हो रही थी जिन्ना की हत्या की साजिश

पामेला ने कहा कि पंडित जी और मेरी मां के बीच जिस्मानी संबंध नहीं थे, दोनों एक दूसरे से पाक-साफ प्यार करते थे। पामेला ने इस बात का खुलासा अपनी किताब 'डॉटर ऑफ एंपायर: लाइफ इज ए माउंटबेटन' में किया। पामेला ने लिखा कि माउंटबेटन जब भारत के अंतिम वायसरॉय नियुक्त हुए थे उस समय उनकी उम्र 17 साल थी। तब उन्होंने अपनी मां एडविना और नेहरू के बीत प्यार विकसित होते हुए देखा।
पामेला ने बताया कि उनकी मां ने नेहरू के अंदर साथी, आतंमिक समानकता और बुद्धिमत्ता देखी थी जिसे वो हमेशा चाहती थीं। पामेला ने लिखा कि उनकी मां ने नेहरू को बहुत से खत लिखे थे जिन्हें पढ़ने के बाद उन्हें एहसास हुआ कि वो दोनों एक दूसरे से किस कदर प्यार करते थे और एक दूसरे का सम्मान करते थे।
उन्होंने कहा कि दोनों के बीच किसी तरह के जिस्मानी संबंध नहीं थे, दोनों अकेले कम ही होते थे वो हमेशा कर्मचारियों, पुलिस और दूसरे लोगों से घिरे होते थे। उन्होंने कहा कि दोनों के बीच जिस्मानी रिश्ते बनाने का वक्त नहीं होता था। गौरतलब है कि पामेला की पुस्तक पहली बार ब्रिटेन में 2012 में प्रकाशित हुई थी।
Next Story
Share it
Top