Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सस्ते टिकटों से यात्रियों की संख्या बढ़ी, अगस्त में जुलाई के मुकाबले 8.3 प्रतिशत की वृद्धि

जनवरी-अगस्त अवधि में यात्रियों की संख्या में 5.31 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

सस्ते टिकटों से यात्रियों की संख्या बढ़ी, अगस्त में जुलाई के मुकाबले 8.3 प्रतिशत की वृद्धि
नई दिल्ली. ताजा आंकड़ों के मुताबिक, विमानन कंपनियों ने इस साल जुलाई में घरेलू मार्गों पर 52.60 लाख यात्रियों को हवाई सैर कराई, जबकि अगस्त में यह संख्या बढ़कर 56.97 लाख पहुंच गई। साल दर साल आधार पर, जनवरी और अगस्त के बीच घरेलू मार्गों पर 4.33 करोड़ यात्रियों ने हवाई यात्रा की, जबकि पिछले साल की इसी अवधि में 4.11 करोड़ यात्रियों ने हवाई यात्रा की थी।

इस तरह से, जनवरी-अगस्त अवधि में यात्रियों की संख्या में 5.31 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई। विमानन बाजार पर इंडिगो का दबदबा बना रहा और उसकी बाजार हिस्सेदारी 32.6 प्रतिशत रही, जबकि 20.1 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ जेट एयरवेज-जेट लाइट दूसरे पायदान पर रही। स्पाइसजेट 19.5 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ तीसरे पायदान पर, जबकि एयर इंडिया 16.2 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ चौथे पायदान पर रही।

विभिन्न भारतीय विमानन कंपनियों की ओर से की जा रही सस्ते टिकटों की पेशकश का असर बाजार पर दिखने लगा है। सस्ते टिकटों की बदौलत अगस्त में हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों की तादाद में जुलाई के मुकाबले 8.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

मालदीव ने दिया हवाई अड्डे का ठेका चीन को

माले अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के उन्नयन का करोड़ों डालर का ठेका चीन को मिल गया है। यह ठेका पहले भारतीय कंपनी जीएमआर को दिया गया था लेकिन मालदीव ने 2012 में उस अनुबंध को एकतरफा कार्रवाई करते हुए रदद कर दिया। राष्ट्रपति शी चिनपिंग की हाल ही की मालदीव यात्रा में चीन को अनेक ढांचागत परियोजनाएं मिलीं। उसे 21वीं सदी की मेरीटाइम सिल्क रोड की महत्वाकांक्षी योजना के लिए मालदीव का सर्मथन मिला है। चाइना डेली के अनुसार हवाई अड्डे के विस्तार व उन्नयन के लिए शुरच्च्आती अनुबंध समझौते पर भी हस्ताक्षर किए गए। इस परियोजना में जीएमआर शामिल थी लेकिन 2012 में सरकार ने उससे हटने को कह दिया। राष्ट्रपति मोहम्मद वहीद की तत्कालीन सरकार ने इस आशय के ठेके को एकतरफा फैसले में रद्द कर दिया। इसको लेकर मालदीव सरकार व जीएमआर में कानूनी विवाद चल रहा है और दोनों पक्ष इस समय सिंगापुर कोर्ट आफ अपील में हैं। उल्लेखनीय है कि दक्षिण एशिया की अपनी यात्रा के तहत शी माले गए थे। इस यात्रा में वे र्शीलंका व भारत भी जाएंगे।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, किन-किन एयरवेज कंपनियों ने दाम कम किए थे-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top